उत्तराखंड: उत्तरकाशी में भीषण बस हादसे में 26 यात्रियों की मौत, चीख पुकार से गूंज उठी पहाड़ी

उत्तराखंड क्राइम देश-दुनिया
खबर शेयर करें

 

– हादसे का मंजर देख सिहर उठे प्रत्यक्षदर्शी, खाई में हर जगह पड़े थे शव

प्रत्यादर्शी ने बताया बस के खाई में गिरते ही वहां अफरा-तफरी मच गई, हर तरफ चीख-पुकार की आवाज ही सुनाई दे रही थी

जनपक्ष टुडे संवाददाता, उत्तरकाशी। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जनपद में रविवार शाम यमुनोत्री हाईवे पर एक दर्दनाक हादसा हुआ। हादसे में तीर्थयात्रियों से भरी बस अनियंत्रित होकर 500 मीटर गहरी खाई में गिर गई। बस में सवार 30 यात्रियों में से 26 की मौत हो गई है। वहीं 4 गंभीर रूप से घायल यात्रियों को अस्पताल ले जाया गया। बस सवार सभी तीर्थयात्री मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के निवासी है। बस में 28 यात्री, एक क्लीनर और एक ड्राइवर था। हादसे के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान देहरादून आ रहे हैं। सीएम शिवराज के साथ मध्यप्रदेश के मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह और चार वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद हैं।

सोमवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दुर्घटनास्थल पर जाएंगे और यहां वे दुर्घटना के बारे में जानकारी लेंगे वहीं पीएम मोदी ने बस दुर्घटना में मृतकों के परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है।

मृतकों को 5-5 लाख देने की घोषणा

इसी के ही साथ मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। सीएम शिवराज ने बताया कि वो देहरादून में राज्य शासन के आपदा कंट्रोल रूम में उत्तराखंड के अधिकारियों के साथ ही मौजूद थे। वहां मंत्री विजेंद्र सिंह, डीजीपी, एसीएस गृह सभी मौजूद थे। सीएम ने कहा कि हमारा पूरा प्रयास है कि बेहतरीन इलाज के साथ सभी घायल शीघ्र स्वस्थ हो सकें। सीएम ने कहा ईश्वर से प्रार्थना है कि सभी घायल श्रद्धालुओं को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्रदान करें। उन्होंने ये भी कहा कि राहत-बचाव कार्य में तत्परता और सेवा भाव के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी, उनकी प्रशासनिक टीम, NDRF, SDRF के दलों के प्रति पूरा मध्यप्रदेश हृदय से आभारी है। सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट करके कहा है।

”उत्तराखंड में चारधाम की तीर्थयात्रा पर यमुनोत्री धाम जा रही बस के खाई में गिरने से मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के तीर्थ यात्रियों की मृत्यु बेहद दुखद, पीड़ाजनक है. ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान कर शोकाकुल परिजनों को गहन दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें.”

दूसरे वाहन को रास्ता देने के चक्कर में हुई दुर्घटना

यमुनोत्री हाईवे पर डामटा से करीब 5 किमी दूर रिखाऊं खड्ड क्षेत्र में ये हादसा हुआ. जहां हादसा हुआ वहां सड़क की स्थिति सही है और सड़क काफी चौड़ी भी है, लेकिन सामने से आ रहे वाहन को पास देते समय ड्राइवर बस पर नियंत्रण खो बैठा. कहा जा रहा है कि उस समय बस काफी स्पीड में थी। तेज रफ्तार होने के कारण पास देते समय वाहन सड़क से बाहर निकल गया और गहरी खाई में जा गिरा और 26 यात्रियों की मौत हो गई।

दिलदहला देने वाला था मंजर

घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यादर्शी की माने तो इस सड़क हादसे का मंजर रोंगटे खड़े कर देने वाला था. हादसे के बाद बस के परखच्चे उड़ गए थे. यात्रियों के शव पेड़ों से लटक रहे थे, कुछ शव खाई में अलग-अलग पड़े हुए थे. खाई की तरफ नजर जाते ही रूह कांप जा रही थी। प्रत्यादर्शी ने बताया बस के खाई में गिरते ही वहां अफरा-तफरी मच गई. हर तरफ चीख-पुकार की आवाज ही सुनाई दे रही थी. जिस के बाद स्थानीय लोगों ने फौरन डीएम, एसपी और सीओ को घटना की जानकारी दी। मौके पर NDRF और SDRF की टीम पहुंची. रेस्क्यू चलाया गया। जिसके बाद सभी शवों को बाहर निकाला गया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया।

ये यात्री थे बस में सवार

राजकुमार (38), राजकुंवर (58 महिला) , मेनका प्रसाद (56), सरोज (54 महिला), बद्रीप्रसाद (63), करन सिंह, (62) उदय सिंह, (63) हक्की राजा, (60) चंद्रकली, (61 महिला), मोतीलाल (62), बलदेव (77 महिला), कुसुम बाई (77 महिला), अनिल कुमारी (50 महिला), कारसन बिहारी (69), प्रभा (63), शकुंतला (60), पार्वती (62), शीला बाई (61), विश्वकांत (39), चंद्रकला (57), कंछेदीलाल (62), राजाभाई (59), धनीराम (72), कामबाई (57), वृंदावन (61), कमला (59), रामसखी (63), गीताबाई (55)।

उत्तराखंड (Uttarakhand) के उत्तरकाशी में आज शाम हुए बस हादसे में 25 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई. मध्य प्रदेश के पन्ना जिले से 28 तीर्थयात्रियों को लेकर जा रही थी. हादसे के बाद एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने दुख जाताया है. सीएम शिवराज अब उत्तराखंड के देहरादून पहुंच गए हैं. सीएम शिवराज के साथ स्थानीय मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह और चार वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद हैं. सीएम रात में देहरादून में रेस्क्यू और घायलों की व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग करेंगे. इसके बाद वह सुबह होते ही उत्तरकाशी जिले के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना होंगे।

सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट करके कहा है, ”उत्तराखंड में चारधाम की तीर्थयात्रा पर यमुनोत्री धाम जा रही बस के खाई में गिरने से मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के तीर्थ यात्रियों की मृत्यु बेहद दुखद, पीड़ाजनक है. ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान कर शोकाकुल परिजनों को गहन दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें.”

स्थानीय जिला प्रशासन के संपर्क में है मैं और मेरी टीम- शिवराज

एक अन्य ट्वीट में सीएम शिवराज सिंह ने कहा, ”मैं और मेरी टीम उत्तराखंड सरकार एवं स्थानीय जिला प्रशासन के सतत संपर्क में है। घायलों के इलाज और मृतकों के शव को मध्य प्रदेश लाने की व्यवस्था की जा रही है. दुःख की इस घड़ी में परिवार स्वयं को अकेला ना समझे, हम सब शोकाकुल परिवारों के साथ हैं.”

चारधाम यात्रा: उत्तरकाशी में MP के पन्ना के तीर्थयात्रियों को लेकर जा रही बस गहरी खाई में गिरी, CM धामी ने संभाली कंट्रोल रूम की कमान
बस हादसे के बाद राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने खुद ही रेस्क्यू मोर्चा संभाला. वह देहरादून के आपदा नियंत्रण कक्ष पहुंचे और जिला प्रशासन को घायलों के समुचित इलाज के साथ-साथ राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

प्रधानमंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान

बता दें कि हादस के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है और मुआवजे का ऐलान किया है. पीएमओ ने ट्वीट किया है, प्रधानमंत्री ने मुआवजे की घोषणा की है। उत्तराखंड दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए पीएमएनआरएफ की ओर से 2-2 लाख और प्रत्येक घायलों को 50 हजार रुपए दिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.