उत्तराखंड: फिर बढ़ने लगा कोरोना, आज आए 16 नए केस, सक्रीय केस की संख्या बढ़कर हुई 335

उत्तराखंड कोरोना वायरस
खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड में रविवार को सात जिलों बागेश्वर, चमोली, चंपावत, हरिद्वार, पौड़ी, टिहरी और उत्तरकाशी में एक भी संक्रमित नहीं मिला है। जबकि रुद्रप्रयाग में डेल्टा प्लस वेरियंट संक्रमण का एक और ऊधमसिंहनगर में तीन मामले सामने आए हैं।

उत्तराखंड में बीते 24 घंटे में 16 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जबकि सात मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। सक्रिय मामलों की संख्या भी बढ़कर 335 पहुंच गई है। जबकि शनिवार को प्रदेश में 326 सक्रिय मामले थे।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार रविवार को 16093 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। सात जिलों बागेश्वर, चमोली, चंपावत, हरिद्वार, पौड़ी, टिहरी और उत्तरकाशी में एक भी संक्रमित नहीं मिला है। वहीं, अल्मोड़ा और रुद्रप्रयाग में एक-एक, देहरादून में तीन, नैनीताल में सात, पिथौरागढ़ और ऊधमसिंह नगर में दो-दो संक्रमित मरीज मिले हैं।

प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 342910 हो गई है। इनमें से 329143 लोग ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के चलते अब तक कुल 7380 लोगों की जान जा चुकी है।

ब्लैक फंगस के दो मामले मिले

प्रदेश में ब्लैक फंगस के दो मामले सामने आए हैं। अब तक प्रदेश में 576 केस ब्लैक फंगस के सामने आ चुके हैं, जिनमें से 131 की मौत हो चुकी है जबकि 346 ठीक हो चुके हैं। 61 ब्लैक फंगस के मरीज अपने राज्यों को जा चुके हैं।

79 हजार से ज्यादा को लगी वैक्सीन

रविवार को प्रदेश में 79 हजार 938 लोगों को कोरोना वैक्सीन दी गई। अब तक प्रदेश में 63 लाख 82 हार 970 को पहली डोज, 19 लाख 97 हजार 298 को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। जबकि 18 से 44 आयु वर्ग में अब तक तीन लाख 30 हजार 279 को दोनों डोज दी जा चुकी हैं।

रुद्रप्रयाग में डेल्टा प्लस वेरियंट का संक्रमित मिला

रुद्रप्रयाग जिले में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरियंट संक्रमण का मामला सामने आया है। मरीज में अब तक कोई लक्षण नहीं हैं। उसे होम आइसोलेशन में रख प्रतिदिन मॉनीटरिंग की जा रही है। जिले में कोरोना संक्रमण के 15 मामले हैं। वहीं, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए जिले की सीमा सिरोहबगड़ व चिरबटिया में चेकिंग बढ़ा दी है। बाहर से आने वाले यात्रियों और सवारियों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

तीन दिन पूर्व जिले में कोरोना डेल्टा प्लस वेरियंट संक्रमित मिला है। मरीज की जांच रिपोर्ट में इस वायरस की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने उसे होम आइसोलेशन में रखा है। साथ ही उसके परिजनों समेत गांव के लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं। सीएमओ डॉ. बीके शुक्ला ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति की ट्रेवलिंग हिस्ट्री की जानकारी भी प्राप्त की जा रही है।

ऊधमसिंह नगर में डेल्टा प्लस वेरिएंट के तीन और मरीज मिले, संख्या पांच हुई

ऊधमसिंह नगर जिले में सिडकुल के दो कर्मियों समेत तीन और लोगों में डेल्टा प्लस वेरिएंट मिला है। इसके बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सतर्क हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमितों के संपर्क में आए 133 लोगों के सैंपल एनसीडीसी लैब दिल्ली भेज दिए हैं। जिले में अब तक पांच लोगों में डेल्टा प्लस वेरिएंट मिल चुका है। इनमें से एक संक्रमित लापता है।

ट्रांजिट कैंप निवासी कोरोना संक्रमित सिडकुल के दो कर्मियों और आवास विकास निवासी युवक की जीनोम सिक्वेंसिंग जांच के लिए अप्रैल में सैंपल लिए गए थे। जांच में तीनों में डेल्टा प्सल वेरिएंट की पुष्टि होने पर शनिवार को स्वास्थ्य विभाग और पुलिस टीम ने ट्रांजिट कैंप और आवास विकास पहुंचकर संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए।

प्रभारी सीएमओ डॉक्टर अविनाश खन्ना ने कहा कि तीनों युवक पूरी तरह स्वस्थ हैं। तीनों की जांच रिपोर्ट देरी से मिली है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सुरक्षा की दृष्टि से तीनों के संपर्क में आए 33 लोगों के साथ ही आसपास के 100 और लोगों के सैंपल जांच के लिए एनसीडीसी लैब दिल्ली भेजे हैं।

दिनेशपुर में मिला था राज्य का डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला केस

ऊधमसिंह नगर जिले के दिनेशपुर में सात जुलाई को डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला केस मिला था। इसके बाद 10 अगस्त को रुद्रपुर में दूसरे युवक में डेल्टा प्लस वेरिएंट मिला था जो अभी तक लापता है। युवक का मोबाइल नंबर मध्य प्रदेश का बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.