उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा ने की कार्मिक समस्याओं के समाधान के लिए आर-पार के संघर्ष का ऐलान

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल
खबर शेयर करें

 

जनपक्ष टुडे संवाददाता, देहरादून। उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा की एक आम सभा जल संस्थान मुख्यालय परिसर में संपन्न हुई। बैठक में कर्मचारी नेताओं ने राजकीयकरण समेत जल संस्थान के कार्मिकों की लम्बित मांगों पर त्वरित कार्रवाई न होने पर संयुक्त रूप से संघर्ष करने का एलान किया।

वीरवार को विभिन्न मांगों को लेकर उत्तराखंड जल संस्थान मुख्यालय में कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा की ओर से आयोजित होने वाले धरना कार्यक्रम को पूर्व सीडीएस स्वर्गीय बिपिन रावत के आकस्मिक निधन के कारण आम सभा में परिवर्तित किया गया। कर्मचारी नेताओं ने बताया कि आम सभा में गढ़वाल मंडल एवं कुमाऊं मंडल के कर्मचारियों ने भारी संख्या में भाग लिया। गढ़वाल एवं कुमाऊं मंडल के कर्मचारी बुधवार को सायं ही देहरादून पहुंच जाने के कारण धरना स्थगित किया जाना संभव नहीं हो सका, लेकिन धरने को आम सभा में परिवर्तित किया गया।

कर्मचारी नेेेताओं ने चेतावनी फि है कि जल संस्थान कर्मियों की मांगों के शीघ्र समाधान ना होने पर सभी संगठनों के साथ उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा को सम्मिलित करते हुए आगामी रणनीति तय की जाएगी।

आम सभा में उत्तराखंड राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद एवं समन्वय मंच के अध्यक्ष अरुण पांडे, महामंत्री शक्ति प्रसाद भट्ट, राज्य निगम कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रांतीय महासचिव बीएस रावत, पेयजल निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष विजय खाली, उत्तराखंड जल संस्थान डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के प्रांतीय महासचिव जयपाल सिंह चौहान, उत्तराखंड परिवहन कर्मचारी परिषद के प्रांतीय महामंत्री दिनेश पंत के अलावा

उत्तराखंड उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ संगठन संयुक्त मोर्चा के सलाहकार चंद्र बल्लभ गैरोला, मुख्य संयोजक एवं उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ के महामंत्री रमेश बिंजोला, गढ़वाल मंडल के अध्यक्ष श्याम सिंह नेगी, गढ़वाल मंडल के महामंत्री शिशुपाल सिंह रावत, कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष रमेश आर्य, महामंत्री सुरेश कुमार, प्रांतीय उपाध्यक्ष रमेश चंद्र सेमवाल, प्रांतीय मीडिया प्रभारी संदीप मल्होत्रा, प्रांतीय कोषाध्यक्ष लाल सिंह रौतेला, मनीराम व्यास, सतीश कुमार, प्रवीण सिंह गुसाईं, राम प्रसाद चंदोला, दीपा रावत, धन सिंह चौहान, हरिद्वार शाखा से वरिष्ठ कर्मचारी नेेेता धन सिंह नेगी, भारत सिंह रावत, परवीन सैनी, अमित कुमार, संजय शर्मा,

राजकुमार अग्रवाल, गढ़वाल जल संस्थान कर्मचारी यूनियन के महामंत्री जगमोहन सिंह बिष्ट, संयोजक प्रेम किशोर कुकरेती, प्रेम सिंह नेगी, संजय कुमार, सुभाष लोतरा, धन सिंह रावत, राजेश नेगी, राजपाल, गजानन थपलियाल, हरीश जोशी, वासुदेव सिंह राना, प्रांतीय उपाध्यक्ष  महेश राम, विजय शाह, प्रदीप सुयाल, साधु राम, संपूर्ण सिंह गुसाईं, रणवीर सिंह, संजय कुमार, मिट्ठू लाल, ओम प्रकाश कनोजिया, चंद्रपाल, केके बुधनी, ममता भाकुनी, सरिता नेगी, गायत्री काला, लक्ष्मी देवी, माया देवी, लता देवी, तारा देवी, विजेंद्र सकलानी, विशंभर सिंह आदि ने संबोधित किया।

अंत में उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ उत्तराखंड प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष संजय जोशी ने पूर्व सीडीएस स्वर्गीय विपिन रावत की दिवंगत आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखते हुए सभा के समापन की घोषणा की।

 

2 thoughts on “उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा ने की कार्मिक समस्याओं के समाधान के लिए आर-पार के संघर्ष का ऐलान

  1. After study a few of the blog posts on your website now, and I truly like your way of blogging. I bookmarked it to my bookmark website list and will be checking back soon. Pls check out my web site as well and let me know what you think.

Leave a Reply

Your email address will not be published.