आंदोलन: उत्तराखंड जल संस्थान और पेयजल निगम के एकीकरण की लड़ाई को संयुक्त रूप से लड़ेगा कर्मचारी संघ और संयुक्त मोर्चा

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल
खबर शेयर करें

 

– उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष पद पर रमेश चंद आर्य और शुक्ल एस कुमार चुने गए महामंत्री

जनपक्ष टुडे संवाददाता, देहरादून। उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ एवं कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने जल संस्थान के राजकीयकरण, जल संस्थान और पेयजल निगम के एकीकरण की मांग को संयुक्त रूप से लड़ने का निर्णय लिया है।

बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री और संयुक्त मोर्चा के मुख्य संयोजक रमेश बिंजोला ने कहा कि जब तक सरकार और शासन द्वारा जल संस्थान और जल निगम का राजकीयकरण के साथ एकीकरण नहीं किया जाता, तब तक जल संस्थान एवं जल निगम के सभी अधिकारी और कर्मचारियों के वेतन का भुगतान ट्रेजरी के माध्यम से किया जाए। साथ ही कहा कि यदि सरकार और शासन द्वारा इस पर जल्द कोई निर्णय नहीं लिया गया तो दिसंबर के पहले सप्ताह से प्रदेशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

बैठक में संघ के गढ़वाल मंडल अध्यक्ष श्याम सिंह नेगी, गढ़वाल मंडल महामंत्री शिशुपाल रावत, कुमाऊं मंडल अध्यक्ष भुवन चंद्र भट्ट, पेयजल निगम कर्मचारी संघ के संयोजक शीतल शाह, कर्मचारी संघ के संयुक्त मीडिया प्रभारी संदीप मल्होत्रा, प्रदेश उपाध्यक्ष राम चंद्र सेमवाल, संयुक्त मंत्री धन सिंह नेगी, संयोजक मंडल के प्रदेश कोषाध्यक्ष लाल सिंह रौतेला, शरद कुमार मणि, मनीराम व्यास, राजीव कुमार शुद्ध, सुदर्शन,  संजय नेगी, मदन बिष्ट, राजभर सिंह, सह संयोजक संपूर्ण सिंह गुसाईं, सह संयोजक धन सिंह चौहान, बुधनी सक्सेना, विजय शाह, पूर्व कुमाऊँ मंडल अध्यक्ष जुगल किशोर शर्मा, दीपा रावत, उमा जोशी, प्रियंका, ममता भाकुनी आदि ने बैठक को संबोधित किया।

इसके बाद उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ कुमाऊं मंडल का चुनाव सपन्न हुआ। चुनाव अधिकारी जुगल किशोर शर्मा की देखरेख में चुनाव निर्विरोध संपन्न कराया गया, जिसमें कुमाऊं मंडल अध्यक्ष पद पर रमेश चंद आर्य, उपाध्यक्ष अनिल कुमार कनौजिया व आरके जोशी निर्वाचित हुए। कुमाऊं मंडल महामंत्री पद पर शुक्ल एस कुमार और कोषाध्यक्ष पद पर राजाराम जेता निर्वाचित हुए। संयुक्त सचिव पद पर कृष्ण कुमार एवं ओम प्रकाश सिंह, संगठन सचिव विद्यासागर एवं सुनहरी सिंह को सर्वसम्मति से चुना गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.