किशोर उपाध्याय कांग्रेस से निलंबित, भाजपा में जाने की अटकलबाजी तेज

उत्तराखंड चुनाव राजनीति
खबर शेयर करें

 

जनपक्ष टुडे ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड में कांग्रेस पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय को तत्काल प्रभाव से पार्टी के सभी पदों से हटा दिया है।  बताया जा रहा है कि किशोर उपाध्याय के बीजेपी समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से लगातार मिल रहे थे, जिस कारण पार्टी ने उनके खिलाफ ये कार्रवाई की है। इस सम्बन्ध में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने आदेश भी जारी कर दिए हैं। उधर, कांग्रेस से निष्कासित होने से बाद किशोर के भाजपा में जाने की अटकलें साफ होती दिख रही है। सूत्रों की मानें तो यदि वह भाजपा में जाते हैं तो किशोर को टिहरी विधानसभा से टिकट मिलना तय है।

प्रदेश प्रभारी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि उत्तराखंड के लोग बदलाव के लिए तरस रहे हैं और भ्रष्ट भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का इंतजार कर रहे हैं। कुशासन और भाजपा नेतृत्व से लोगो मे व्यापक गुस्सा भी है। वहीं चुनौती का सामना करना और उत्तराखंड की देवभूमि और यहां के लोगों की सेवा करना हम में से प्रत्येक का कर्तव्य है।

लेकिन दुखद है कि किशोर इस लड़ाई और लोगों के हितों को कमजोर करने के लिए भाजपा और अन्य राजनीतिक दलों के साथ मिलनसार हैं। पत्र में कहा गया है कि किशोर उपाध्याय को व्यक्तिगत रूप से कई चेतावनियां देने के बावजूद, उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं, जिसके चलते किशोर उपाध्याय को पार्टी के सभी पदों से हटाया जाता है।

वही, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि फिलहाल इसकी पूरी जानकारी नहीं है, लेकिन किशोर को पार्टी के प्रति अपना समर्पण भाव रखना चाहिए था। पार्टी ने अगर इतना बड़ा कदम उठाया है तो कोई एविडेंस मिला ही होगा। जिसके बाद ही किशोर को पार्टी ने सभी पदों से हटाया है।

368 thoughts on “किशोर उपाध्याय कांग्रेस से निलंबित, भाजपा में जाने की अटकलबाजी तेज

  1. In deed data, close to 70% of the men with ED in the scan said they felt that they are letting their associate down, and more than 40% said their partners endure they can no longer launch sex. Those feelings of self-consciousness and dilemma oftentimes lead men to camouflage their working order from their partners.
    Source: cialis trial

Leave a Reply

Your email address will not be published.