उत्तराखंड जल विद्युत निगम ने अप्रैल में किया रिकॉर्ड विद्युत उत्पादन

देश-दुनिया
खबर शेयर करें

 

जनपक्ष टुडे ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड के लिए अच्छी खबर है। उत्तराखंड जल विद्युत निगम (यूजेवीएन) लिमिटेड की हरिद्वार जिले में अपर गंगा कैनाल स्थित 20.4 मेगावाट की पथरी और 9.3 मेगावाट की मोहम्मदपुर के साथ ही पौड़ी गढ़वाल में कालागढ़ स्थित 198 मेगावाट की रामगंगा जल विद्युत परियोजनाओं के विद्युत गृहों ने माह अप्रैल 2022 में रिकॉर्ड विद्युत उत्पादन किया गया।

इस संबंध में जानकारी देते हुए यूजेवीएन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक संदीप सिंघल ने बताया कि पथरी विद्युत गृह द्वारा अप्रैल 2022 में 11.482 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन किया गया जो कि पथरी विद्युत गृह का किसी भी वर्ष के अप्रैल माह का अभी तक का सर्वाधिक विद्युत उत्पादन है। इससे पूर्व पथरी परियोजना के विद्युत गृह द्वारा अप्रैल माह का अधिकतम विद्युत उत्पादन वर्ष 1962 एवं वर्ष 2017 में किया गया था जो कि 11.312 मिलियन यूनिट था। हालांकि उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार पथरी विद्युत गृह द्वारा सन् 1962 में भी 11.31 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन किया गया था।

एमडी संदीप सिंघल ने बताया कि मोहम्मदपुर जल विद्युत गृह द्वारा अप्रैल 2022 में 5.170 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन किया गया जो कि स्थापना के बाद से अब तक का इस विद्युत गृह का किसी भी वर्ष के अप्रैल माह का अभी तक का सर्वाधिक विद्युत उत्पादन है। इससे पूर्व मोहम्मदपुर विद्युतगृह द्वारा अभी तक का अप्रैल माह का अधिकतम विद्युत उत्पादन वर्ष 2019 में किया गया था जो कि 5.097 मिलियन यूनिट था।

रामगंगा जल विद्युत परियोजना के बारे में बताते हुए प्रबंध निदेशक श्री संदीप सिंघल ने कहा कि पूरी तरह से उत्तर प्रदेश की सिंचाई आवश्यकताओं पर आधारित रामगंगा विद्युत गृह द्वारा अप्रैल 2022 में 68.486 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन किया गया जो कि रामगंगा विद्युत गृह का किसी भी वर्ष के अप्रैल माह का अभी तक का सर्वाधिक विद्युत उत्पादन है। इससे पूर्व रामगंगा विद्युतगृह द्वारा अप्रैल माह का अधिकतम विद्युत उत्पादन वर्ष 2009 में किया गया था जो कि 67.697 मिलियन यूनिट था।

प्रबंध निदेशक संदीप सिंघल ने पथरी, मोहम्मदपुर और रामगंगा विद्युत गृहों की उपलब्धि पर हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि विद्युत गृहों की मशीनों के बेहतर संचालन, रखरखाव एवं कार्मिकों के उत्कृष्ट कार्य से यह रिकार्ड उत्पादन संभव हुआ है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.