दर्दनाक: टिहरी में अंगीठी का गैस लगने से दो सगे भाइयों की मौत, शोक में डूबा पूरा क्षेत्र

उत्तराखंड क्राइम
खबर शेयर करें

 

जनपक्ष टुडे संवाददाता, नई टिहरी। उत्तराखंड में अंगीठी की गैस ने दो नाबालिगों की जान ले ली। बीती रात्रि को अंगीठी सेकने के बाद दरवाजा बंद कर दोनों भाई सो गए। कमरे में रखी अंगीठी के गैस ने सो रहे दो सगे भाईयों को हमेशा के लिए नींद के आगोश में सुला दिया। एक साथ दोनों भाईयों की मौत से क्षेत्र में शोक और मातम पसरा हुआ है। परिवारजन सदमें में हैं। मामला टिहरी गढ़वाल के विकास खंड भिलंगना का है।

दरअसल, आजकल सभी जगह हाड़कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। ठंड से बचाव के ल‍िए कई लोग अंगीठी का इस्तेमाल करते हैं, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में इसका इस्‍तेमाल ज्यादा होता है, जो बंद कमरे में ऑक्सीजन की मात्रा को कम कर देता है। जिसके चलते दम घुटने से लोगों की मौत तक हो सकती है। बंद कमरे में जलती अंगीठी रखकर सोना एक परिवार के दो सगे भाइयों जीवन के लिए भारी पड़ गया।

जानकारी के अनुसार टिहरी गढ़वाल जिले के हिंदाव पट्टी के चटोली गांव में अनुज (16) तथा आशीष (17) पुत्र मकान सिंह नेगी बुधवार रात्रि को आंगन में अंगीठी सेक रहे थे। खाना खाने के बाद दोनों भाई अंगीठी को अपने कमरे में ले गए। गुरुवार सुबह काफी देर तक दरवाजा नहीं खोलने पर जब मकान सिंह नेगी ने आवाज लगाई तो अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई।

किसी अनहोनी की आंशका से पिता ने दरवाजा थोड़ा तो अंदर की स्थिति देख माता-पिता के पैरों तले जमीन खिसक गई। दोनों भाई बेड पर मृत पड़े थे। बेटों को मृत अवस्था में देख मां वहीं बेहोश हो गई। पिता मकान सिंह ने किसी तरह होश संभाला और लोगों को बुलाया। दोनों युवक कक्षा 11वीं में पढ़ते थे। दो सगे भाइयों की एक साथ हुई दर्दनाक मौत से क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई।

1 thought on “दर्दनाक: टिहरी में अंगीठी का गैस लगने से दो सगे भाइयों की मौत, शोक में डूबा पूरा क्षेत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.