हर सांस का आधार है हरियाली, पर्यावरण संरक्षण सबकी जिम्मेदारी: कपरूवाण

उत्तराखंड शिक्षा-खेल समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

 

– पौधरोपण कर सिल्वर वैल एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने निकाली हरेला पर्व पर जन जागरुकता रैली

जनपक्ष टुडे संवाददाता, देहरादून। हरेला पर्व के अवसर पर सिल्वर वैल एकेडमी नकरौंदा ने विद्यालय प्रांगण में पर पौधरोपण किया। इस अवसर पर देवभूमि महासभा की केंद्रीय अध्यक्ष और विद्यालय के प्रबंधक निदेशक प्रमोद कपरुवाण शास्त्री ने हरियाली का महत्व समझाते हुए कहा हरेला का त्यौहार उत्तराखंड का लोक पर्व है। यह पर्व विशेष रूप से कुमाऊं में मनाया जाता है और गढ़वाल क्षेत्र में यह पर्व घी संक्रांति के नाम से मनाया जाता है।

कपरुवाण ने कहा कि हरेला का पर्व हरियाली और समृद्धि का पर्व है। उत्तराखंड राज्य का लगभग 71% भू-भाग में पेड़-पौधे होने से यह प्रदेश देश ही नहीं, बल्कि दुनिया को मुफ्त में पर्यावरण देने का काम करता है। कहा कि जिस तरह लगातार विकास के नाम पर पेड़ों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है यह चिंता का विषय है, क्योंकि विकास भी जरूरी है इसलिए हम सब लोगों को संकल्प लेना है कि अधिक से अधिक संख्या में पौधरोपण होना चाहिए। वृक्षों का संरक्षण अवश्य होना चाहिए, ताकि पर्यावरण को बचाया जा सके।

इस अवसर पर विद्यालय के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा हाथ में स्लोगन लिखी तख्तियों में ‘आओ मिलकर भूल सुधारें, पर्यावरण का रूप निखारे’,  ‘कहते हैं यह वेद पुराण, ‘वन धरती मां के हैं वरदान, वृक्षारोपण कार्य है महान’, ‘वृक्षारोपण कार्य महान एक वृक्ष 10 पुत्र समान’ आदि नारों के साथ जन जागरण रैली निकाली।

रैली में विद्यालय की प्रधानाचार्य मीना रतूड़ी, प्रबंधक अंजना कपरूवाण, शिक्षिका रितु गौड़, पूजा जगूड़ी, कुसुम जुयाल, विभा बिष्ट, अंजली नौटियाल, अर्चना मनवाल, सावित्री और उर्वसी भट्ट समेत विद्यालय की छात्र-छात्राएं शामिल हुए।

 

10 thoughts on “हर सांस का आधार है हरियाली, पर्यावरण संरक्षण सबकी जिम्मेदारी: कपरूवाण

  1. Regarding cessation of treatment or change in form of ovarian suppression therapy from GnRH to surgical oophorectomy, the impacts of timing of these changes and the changes themselves are unconsidered and unknown priligy tablets online com 20 E2 AD 90 20Viagra 20Atsiliepimai 20 20Buy 20Viagra 20Pill viagra atsiliepimai The country has run full year budget deficits continuously since 2001, and the amount of red ink has grown immensely since 2009 when a surge in unemployment fueled higher spending on the social safety net

  2. I have been browsing on-line more than three hours as of late, but I by no means found any attention-grabbing article like yours. It is beautiful price enough for me. In my view, if all webmasters and bloggers made just right content material as you probably did, the internet might be a lot more helpful than ever before.

Leave a Reply

Your email address will not be published.