उत्तराखंड में ट्रांसमिशन सिस्टम को किया जाएगा नई टेक्नोलॉजी के जरिए सुदृढ़ और मजबूत: पीसी ध्यानी

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल राजकाज
खबर शेयर करें
– पिटकुल मुख्यालय में नव नियुक्त प्रबंध निदेशक पीसी ध्यानी ने किया मीडिया को ब्रीफ, गिनाई प्राथमिकताएं
जनपक्ष टुडे ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड पाॅवर ट्रांसमिशन कॉरपोरेशन लिमिटेड लिमिटेड (पिटकुल) के नव नियुक्त प्रबन्ध निदेशक पीसी ध्यानी ने कहा कि राज्य में नई बिजली लाइनों का निर्माण समय पर पूरा किया जाएगा। साथ ही ओवरलोडिंग से जूझ रही लाइनों की कंरट कैरिंग क्षमता नई तकनीकी से बढ़ाई जाएगी।

सोमवार को कार्यभार ग्रहण करने के बाद पिटकुल मुख्यालय में आयोजित प्रेसकांफ्रेंस को संबोधित करते हुए नव नियुक्त एमडी पीसी ध्यानी ने कहा कि राज्य में बिजली लाइनों की मजबूती उनका पहला लक्ष्य है। इसके तहत हाई वोल्टेज की समस्या से जूझ रही लाइनों पर नई तकनीकी के कंडक्टर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में 400 केवी का एक, 220 केवी के दो, 132 केवी के पांच, जबकि दो नई प्रेषण लाइनें बनाई जानी हैं। उन्होंने कहा कि अगले चार सालों के भीतर इस कार्य को पूरा कर दिया जाएगा।

प्रेसकांफ्रेंस को संबोधित करते नव नियुक्त प्रबन्ध निदेशक पीसी ध्यानी।

बनाई जाएगी प्रोजेक्ट मॉनीटिरिंग यूनिट

एमडी पीसी ध्यानी ने कहा कि पिटकुल की सभी परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए प्रोजेक्ट मॉनीटरिंग यूनिट की स्थापना की जाएगी। साथ ही पिटकुल में शत प्रतिशत ई-टेंडरिंग करने का भी निर्णय लिया गया है।

नई तकनीकी के लगेंगे ट्रांसमिशन पोल

प्रबन्ध निदेशक श्री ध्यानी ने कहा कि बिजली लाइनों पर परंपरागत टावरों के स्थान पर नई तकनीकी के पारेषण पोल लगाए जाएंगे। नए एमडी श्री ध्यानी ने निगम के कार्यों की समीक्षा बैठक लेते हुए अपनी प्राथमिकताएं गिनाई। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि सभी निर्माणाधीन परियोजनाओं में तेजी लाई जाए।

ट्रांसमिशन तंत्र को बनाया जाएगा सुदृढ़ और मजबूत 
प्रदेश के पारेषण तंत्र को सुदृढ़ और मजबूत बनाने के तेजी के साथ कदम बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही नेशनल ग्रिड को भी मजबूती प्रदान करने के लिए निगम हर सम्भव सहयोग देगा।
निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय पर पूरा करने का लक्ष्य
– 132 के0वी0 पिथौरागढ –चम्पावत लाईन (41.35 सर्किट किमी),
– 132 के०वी० बिंदाल -पुरकुल लाईन (11 सर्किट किमी)
– 220 के0वी0 उपसंस्थान बरम एवं सम्बन्धित लाईन (50 एमवीए/ 21.96 सर्किट किमी).
– 220 के०वी० एल एण्ड टी ब्रहमवारी लाईन (31 सर्किट किमी) – – 400 केवी तपोवन- पीपलकोटी लाईन (36 सर्किट किमी)
– 400 के०वी० पीपलकोटी -श्रीनगर (गधवाल) की समस्याओं को तुरन्त निराकरण कर उक्त परियोजनाओं को समयबद्ध रूप से पूर्ण करें।
अगले चार साल में पूरे हो जाएंगे ये प्रोजेक्ट्स
अगले चार साल में ए०डी०बी० पोषित प्रस्तावित परियोजनायें को लेकर भी एमडी ने दिशा निर्देश जारी किए। कहा कि 400 के0वी0 उप संस्थान लण्ढौरा, 220 के०वी० उप संस्थान सेलाकुई तथा मंगलौर, 132 के०वी० उपसंस्थान लोहाघाट, आराघर, धौलाखेड़ा, खटीमा एवं सरवरखेड़ा, 132 के0वी0 महुवाखेड़ागंज जसपुर तथा 132 के०वी० पिथौरागढ़ चम्पावत (द्वितीय सर्किट) पारेषण लाईनों के कार्य समयबद्ध रूप से पूर्ण किए जाएं, ताकि जनता को इसका लाभ मिल सके।
कार्मिकों की समस्याओं के निस्तारण का दिया भरोसा 

प्रबन्ध निदेशक ने आश्वस्त किया कि वह 24X7 कार्मिकों के लिये उपलब्ध रहेंगे। किसी भी कार्मिक की कोई भी समस्या होगी तो उसका समय पूर्णतः समाधान किया जायेगा। उन्होंने अपेक्षा की है कि कार्मिकों को भी टारगेट आधारित वर्क करना होगा। उन्होंने पारेषण लाईनों में ओ०पी०जी०डब्लयू० का अधिकतम उपयोग किये जाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इस दौरान

पिटकुल मुख्यालय में नव नियुक्त प्रबन्ध निदेशक प्रकाश चन्द्र ध्यानी का निगम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।
भ्रष्टाचार कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे
प्रेसकांफ्रेंस में मीडिया की ओर से पूछे गये सवालों  के जवाब में प्रबन्ध निदेशक श्री ध्यानी ने कहा कि निगम में किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आर्वीटेशन में चल रहे ईशान प्रकरण में उन्होंने कहा कि पहले इसकी समीक्षा की जाएगी। इसके बाद वही किया जाएगा जो निगम हित में होगा।
कार्यभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शिष्टाचार भेंट करते नव नियुक्त प्रबन्ध निदेशक पीसी ध्यानी।
सीएम से मिले नव नियुक्त एमडी
इससे पूर्व शासन में चार्ज लेने की औपचारिकता पूरी कर नव नियुक्त प्रबन्ध निदेशक पीसी ध्यानी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात कर उनका आभार व्यक्त किया। इस दौरान श्री ध्यानी ने मुख्यमंत्री को आश्वास्त किया कि वह सरकार की प्राथमिकताओं को अनुरूप कार्य करने का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने अपर मुख्य सचिव ऊर्जा  राधा रतूड़ी, सचिव ऊर्जा आर.मीनाक्षी सुंदरम से भी मुलाकात कर आभार जताया।

13 thoughts on “उत्तराखंड में ट्रांसमिशन सिस्टम को किया जाएगा नई टेक्नोलॉजी के जरिए सुदृढ़ और मजबूत: पीसी ध्यानी

  1. Thanks for some other magnificent post. Where else may just anyone get that kind of information in such an ideal manner of writing? I’ve a presentation subsequent week, and I am on the look for such info.

Leave a Reply

Your email address will not be published.