नदी में डूबने से दो इकलौते बेटों की मौत के साथ तीन परिवारों के चिराग बुझे

उत्तराखंड क्राइम
खबर शेयर करें

 

जनपक्ष टुडे संवाददाता, देहरादून। हर्रावाला चौकी क्षेत्र में नदी में डूबने से दो छात्रों की मौत हो गई। शुक्रवार देर रात एसडीआरएफ और पुलिस टीम ने स्थानीय लोगों की मदद से नदी से शव बरामद किए। उधर, इकलौते बेटों की मौत से दोनों परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। शनिवार को कोरोनेशन में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए।

बालावाला की सैनिक कॉलोनी में दोनों छात्रों का परिवार रहता है। शिक्षा विभाग में कार्यरत अतुल कठैत के बेटे अंशुल (13 वर्ष) और रोडवेज में कार्यरत एमएस असवाल के बेटे शिवमं (16 वर्ष) बीते रोज दोस्तों संग गूलरघाटी के पास नहाने गए थे। जब दोनों देर शाम तक घर नहीं लौटे तो परिजनों ने खोजबीन शुरू कर दी। एसडीआरएफ और पुलिस टीम ने देर रात करीब साढ़े 11 बजे शव बरामद किए। शिवम 10वीं और अंशुल 8वीं में पढ़ता था। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

नखाना खाया, नरातभर सोए: जंब सूचना मिली थी, तब एसडीआरएफ के साथ प्रभारी एसपी चंद्रशेखर घोड़के, सीओ अनिल शर्मा, चौकी प्रभारी नवीन कुमार, बालावाला से एसआई कमलेश | गौड़ मौके पर पहुंच गए थे। पोस्टमार्टम कराने कोरोनेशन पहुंचे हर्रावाला चौकी के सिपाही विपिन सेमवाल ने बताया कि यह दुखदायी घटना थी। वे रातभर खाना नहीं खा पाए और सो भी नहीं पाए।

11 बजकर 30 मिनट पर शुक्रवार रात मिले शव

बालावाला निवासी दोनों छात्र नदी में डूब गए थे एक के पिता शिक्षा विभाग दूसरे के रोडवेज में कार्यरत हैं। साथ ही परिजनों ने अफसरों से पोस्टमार्टम न कराने की गुहार लगाई। अफसरों ने इनकार कर दिया। एक अफसर ने परिजनों के सामने ही कह दिया कि बाद में संदिग्ध घटना सामने आएगी तो क्या होगा। जबकि, सीओ और थाना प्रभारी ने रिपोर्ट में कह दिया था कि यह सामान्य घटना है।

शव रखने को रातभर भटकते रहे परिजन

परिजन रातभर शव मोर्चरी में रखवाने को भटकते रहे। कोरोनेशन में कह दिया गया था कि यहां मोर्चरी नहीं, पोस्टमार्टम हाउस है। पोस्टर्माटम हाउस में ताला था। दून अस्पताल में भी शव रखने से इनकार कर दिया गया। उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद कोरोनेशन के बेसमेंट में शवों को रखवाया गया।

सौंग नदी में डूबने से दून के युवक की भी जान गई

रायवाला थाना क्षेत्र के सौंग नदी में संदिग्ध परिस्थितियों में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवा दिया। जांच शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक, शनिवार सुबह पुलिस कंट्रोल रूम ऋषिकेश के माध्यम से सूचना मिली कि सौंग नदी में एक युवक डूब गया है।

सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और नदी में डूब रहे एक युवक को जेसीबी और स्थानीय लोगों की मदद से पानी से बाहर निकाला। अचेतावस्था में होने के कारण युवक को तत्काल सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रायवाला पुलिस ने मृतक की शिनाख्त अजय उनियाल उर्फ सोनू (29) पुत्र चंद्रशेखर उनियाल निवासी चुक्खुमोहल्ला देहरादून के रूप में कराई है।

रायवाला थाना क्षेत्र के सौंग नदी में संदिग्ध परिस्थितियों में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवा दिया। जांच शुरू कर दी। पुलिस के मुताबिक, शनिवार सुबह

रहे एक युवक को जेसीबी और स्थानीय लोगों की मदद से पानी से बाहर निकाला। अचेतावस्था में होने के कारण युवक को तत्काल सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

रायवाला पुलिस ने मृतक की शिनाख्त अजय उनियाल उर्फ से सूचना मिली कि सौंग नदी में एक युवक सोनू (29) पुत्र चंद्रशेखर उनियाल डूब गया है। सूचना मिलते ही पुलिस निवासी चुक्खुमोहल्ला देहरादून के रूप में कराई है।

 

77 thoughts on “नदी में डूबने से दो इकलौते बेटों की मौत के साथ तीन परिवारों के चिराग बुझे

  1. Furthermore, the presence of multiple effective mutations in single cells should allow for identification of cooperating resistance genes, as suggested by our analysis of the ABCB1 MEIS1 interaction in resistant clones ivermectin vs stromectol Estradiol mediates its bioeffect by binding to estradiol receptors ERs 21

  2. To identify those requiring more in depth consultation or referral, patients could also receive advice by telephone, which reduces the number of visits needed and frees face to face pharmacy capacity lasix fluid

Leave a Reply

Your email address will not be published.