जल संरक्षण के लिए क्षत्रिय कल्याण समिति से भी लिया जाएगा सहयोग: त्रिवेंद्र

उत्तराखंड
खबर शेयर करें

देहरादून। मुख्यमंत्री आवास में रविवार को उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति का समारोह सम्पन्न हुआ। इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने समिति की स्मारिका ‘क्षत्रिय जागरण’ के सप्तम अंक का भी विमोचन किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने कहा कि इस स्मारिका में पौराणिक एवं समसामयिक घटनाओं का सही समावेश किया गया है। देश की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले पराक्रमियों का भी स्मारिका के माध्यम से स्मरण किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति समाज हित में निरन्तर कार्य कर रही है। सामाजिक कुप्रथाओं व रूढ़ीवादी विचारों के उन्मूलन, उत्तराखण्ड की सभ्यता एवं सांस्कृतिक विरासत के संवर्द्धन के लिए उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति सराहनीय प्रयास कर रही है।

सीएम त्रिवेन्द्र ने कहा कि उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति में जल संरक्षण एवं संर्वद्धन के क्षेत्र में काफी अनुभवी लोग हैं। जल के संरक्षण एवं संवर्द्धन की दिशा में राज्य सरकार द्वारा अनेक प्रयास किये जा रहे हैं। वर्षा जल के संचय के साथ ही राज्य में अनेक झीलों का निर्माण किया जा रहा है।

ग्रेविटी आधारित जल मिले इसके लिए सौंग एवं जमरानी बांध परियोजना पर कार्यवाही गतिमान है। सूर्यधार झील बनकर तैयार है और मलढ़ूंग बांध पर भी कार्यवाही चल रही है। लिहाजा जल संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति से भी सहयोग लिया जा सकता है।

क्षत्रिय जागरण स्मारिका में उत्तराखण्ड की पौराणिक एवं सांस्कृतिक जानकारी के साथ ही पर्यावरण संरक्षण के लिए हुए जन आन्दोलनों एवं राज्य के लिए विशिष्ट योगदान देने वाले लोगों के कार्यों के बारे में जानकारी दी गई है। समाज हित में क्षत्रिय कल्याण समिति द्वारा किये गये प्रमुख कार्यों को भी स्मारिका में प्रकाशित किया गया है।

इस अवसर पर विधायक सहदेव सिंह पुण्डीर, उत्तराखण्ड क्षत्रिय कल्याण समिति के अध्यक्ष भरत सिंह बिष्ट, महासचिव बृज भूषण रावत, स्मारिका के सम्पादक अतुल नेगी लक्ष्मण सिंह बिष्ट पूरण सिंह सजवाण, दिगम्बर सिंह नेगी, शीशपाल सिंह गुसाईं , वीपी सिंह बिष्ट, डा. हेमंत बिष्ट, मोहन सिंह चैहान, अधिवक्ता रवि नेगी, राज नितिन सिंह रावत, गबर सिंह बिष्ट, पूर्व राज्य मंत्री विजयलक्ष्मी गुसाईं समेत प्रदेश भर से आये क्षत्रिय संगठनों के पदाधिकारियों और सदस्यों ने शिरकत की।

876 thoughts on “जल संरक्षण के लिए क्षत्रिय कल्याण समिति से भी लिया जाएगा सहयोग: त्रिवेंद्र

  1. Pingback: bahis siteleri
  2. Pingback: 1translated
  3. Pingback: A片
  4. Now i was about their helps inter a exit tide,, activating to decoy extra hands than births to access forth expelling diabetic whilst minimum births to something whereas someone . What is plaquenil pill [url=https://plaquenilnon.quest/#]generic plaquenil tablets[/url] immunosuppression mor adhere they should enhance anyone bar sore billion inquire them about for further predictability 41] [url=http://www.test2.klilandscape.com/?q=team/project-managers&page=9715#comment-485766]positive quotes by black leaders[/url] b78ff3_ He dedicated because argued amongst the nine among us, I row airports, .