उत्तराखंड की आर्थिकी का आधार बने पावर सेक्टर, ऊर्जा प्रदेश बनाने में बिजली कर्मी बनें सहयोगी: मुख्यमंत्री धामी

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

 

– मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यूजेवीएनएल को दी स्थापना दिवस की बधाई

– यूजीवीएनएल ने वर्ष 2020-21 में अर्जित लाभांश के रूप में मुख्यमंत्री को सौंपा 25 करोड़ का चेक

जनपक्ष टुडे ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड जल विद्युत निगम (यूजेवीएन) लिमिटेड ने रविवार को उत्तराखण्ड राज्य एवं यूजेवीएन लिमिटेड का स्थापना दिवस संयुक्त रूप से निगम मुख्यालय में धूमधाम से मनाया। इस अवसर पर प्रबन्ध निदेशक संदीप सिंघल और अन्य अधिकारियों द्वारा यूजेवीएन लिमिटेड की ओर से मुख्यमंत्री पुकार सिंह धामी को सरकार की अंश पूंजी पर लाभाश के रूप में 25 करोड़ रूपए का चेक भेट किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री धामी ने यूजेवीएन के स्थापना दिवस पर सभी को बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा है कि उत्तराखंड आने वाले वर्षों मे देश का एक आदर्श राज्य बन जाएगा। उन्होंने कहा कि जल परियोजनाओं में उत्तराखण्ड के विकास में एक अहम भागीदारी निभाने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि यूजेवीएन लिमिटेड ने अपनी एवं उच्चकोटि की कार्य संस्कृति के बल पर आज राज्य ही नहीं देशभर के संस्थानों के बीच अपनी एक अलग पहचान बना ली है। राज्य बनने के बाद यूजेवीएनएल का उत्तराखण्ड को ऊर्जा प्रदेश बनाना तथा राज्य को विद्युत उत्पादन की नई की ओर से जाना था जिसे निगम द्वारा अपने रिकार्ड उत्पादनों द्वारा बार बार साबित भी किया है। इसके लिये निगम कार्मिक प्रशंसा के पात्र है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार जीरो पेंडेसी पर विशेष ध्यान दे रही है। इसके लिये हर क्षेत्र के लिये सरलीकरण, समाधान एवं निस्तारण तीन मूल मंत्र निर्धारित किये गये हैं। कोई भी फाइल हो इसका निस्तारण निर्धारित समय सीमा के अन्दर हो जाना चाहिए। इसका सभी को ध्यान रखना होगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने खटीमा विद्युत गृह को बेस्ट परफार्मिंग पावर हाउस और व्यासी जल विद्युत परियोजना को बेस्ट अंडर कंस्ट्रक्शन परफार्मिंग प्रोजेक्ट का एवार्ड प्रदान करते हुए कहा कि खटीमा जल विद्युत गृह के लोहिया हेड से उनका नाता रहा है। बचपन में उसी क्षेत्र के स्कूल में उन्होंने पढ़ाई की है।

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने ऊर्जा कर्मियों से ऊर्जावान बनने की अपेक्षा करते हुए कहा कि जहां अन्य निगम सरकार से मांगते हैं वहीं यूजेवीएनएल सरकार को देने वाला निगम है। उन्होंने निगम को ऊर्जा के क्षेत्र में बड़े सपने देखने की सीख भी दी। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि हमारा प्रयास दिसम्बर में व्यासी परियोजना का लोकार्पण तथा लखवाड़ परियोजना का शिलान्यास प्रधानमंत्री के द्वारा कराये जाने का है। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को युवा मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि उनके मार्गदर्शन में प्रदेश के ऊर्जा क्षेत्र को भी नई ऊर्जा मिलेगी। उन्होंने ऊर्जा को जीवन का भी हिस्सा बताया। उन्होंने ने कहा कि आज ऊर्जा क्षेत्र में प्रदेश आगे है और इसका श्रेय ऊर्जा कार्मिकों को जाता है।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव एवं निगम अध्यक्ष राधा रतूड़ी ने कहा कि अभी यूजेपीएन लिमिटेड के पास कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं के निर्माण का जिम्मा भी है, जिनके पूर्ण होने पर राज्य निश्चय ही ऊर्जा के क्षेत्र में पूर्ण आत्मनिर्भरता की और एक बड़ा कदम होगा।

कार्यक्रम में बोलते हुए यूजेवीएनएल के प्रबंध निदेशक संदीप सिंघल ने निगम के कार्यकलापों की जानकारी दी और मुख्यमंत्री को निगम के लाभांश का 25 करोड़ का चेक भेंट किया। सिंघल ने बताया कि कोरोनाकाल एवं विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी निगम की परियोजनाओं द्वारा वर्ष 2019-20 में 5088 मिलियन यूनिट तथा वर्ष 2020-21 में 4754 मिलियन यूनिट ऊर्जा का उत्पादन किया गया। उन्होंने कहा कि पूजेवीएन लिमिटेड द्वारा लगातार पिछले पांच वर्षों से राज्य सरकार को लाभांश प्रदान किया जा रहा है। यूजेवीएन लिमिटेड द्वारा उत्पादित विद्युत अन्य स्रोतों से प्राप्त ऊर्जा की तुलना में सस्ती तो है ही साथ ही अन्य जैव ईंधन ऊर्जा की तुलना में स्वच्छ एवं प्रदूषण मुक्त होने के कारण पर्यावरण अनुकूल भी है। इस अवसर पर यूजेवीएन लिमिटेड द्वारा निगम के कार्मिकों का मनोबल बढ़ाने एवं स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का वातावरण बनाने के उद्देश्य से वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 में सराहनीय प्रदर्शन पर विभिन्न श्रेणियों में श्रेष्ठ कार्य के लिए विद्युत एवं कार्मिकों को भी पुरस्कार प्रदान किए गए।

कार्यक्रम में इलेक्ट्रिसिटी ओम्बड्समैन सुभाष कुमार, यूपीसीएल के प्रबंध निदेशक अनिल कुमार समेत बड़ी संख्या में निगम के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

यूजेवीएनएल में 2020-21 में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए इन्हें मिला पुरस्कार

1. सर्वश्रेष्ठ विद्युत गृह विजेता आर एम यू के साथ मोहम्मदपुर विद्युत गृह
2. सर्वश्रेष्ठ विद्युत गृह विजेता आर एम यू के बिना ढकरानी विद्युत गृह
सर्वश्रेष्ठ विद्युत गृह आर एम यू के बिना उपविजेता छिबरो विद्युत गृह
3. सर्वश्रेष्ठ निर्माणाधीन परियोजना विजेता व्यासी जल विद्युत परियोजना
4. सर्वश्रेष्ठ अभियंता तकनीकी पुरुष तथा महिला विजेता शांति प्रसाद भट्ट अधिशासी अभियंता रेखा डंगवाल अधिशासी अभियंता
सर्वश्रेष्ठ अभियंता तकनीकी पुरुष उप विजेता अनूप दीपक अधिशासी अभियंता
सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता पुरुष विजेता हरीश तिवारी
5.सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता पुरुष उपविजेता श्री प्रेम प्रकाश
सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता महिला विजेता श्रीमती मीनाक्षी
6. सर्वश्रेष्ठ अधिकारी पुरुष विमल डबराल जनसंपर्क अधिकारी
7. सर्वश्रेष्ठ मिनिस्ट्रियल कार्मिक पुरुष विजेता श्री रवीश अहमद
सर्वश्रेष्ठ पुरुष उपविजेता कपिल जोशी
सर्वश्रेष्ठ मिनिस्ट्रियल कार्मिक रश्मि मिश्रा
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक व तकनीकी स्टाफ पुरुष विजेता श्री मनोहर राम
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक एवं तकनीकी स्टाफ पुरुष विजेता श्री त्रिलोक सिंह रावत  एवं प्रदीप कोठारी
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक एवं तकनीकी स्टाफ महिला विजेता सीमा
सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक पुरुष विजेता श्री भुवन चंद्र मखोलिया
सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक महिला विजेता पुनीता
सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक पुरुष उपविजेता नवीन
सर्वश्रेष्ठ उपनल कार्मिक पुरुष शिवराज सिंह
विशेष सुरक्षा गार्ड विनोद रावत

यूजेवीएनएल में 2019-20 में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए इन्हें मिला पुरस्कार

विद्युत गृह आरएमयू के साथ शारदा विद्युत गृह खटीमा
सर्वश्रेष्ठ विद्युत गृह आर एम यू के बिना विजेता ढालीपुर विद्युत गृह
सर्वश्रेष्ठ विद्युत गृह आर एम यू के बिना उप विजेता चीला विद्युत गृह
सर्वश्रेष्ठ निर्माणाधीन परियोजना विजेता कालीगंगा प्रथम
सर्वश्रेष्ठ अभियंता तकनीकी पुरुष विजेता दामोदर प्रसाद डोभाल सहायक अभियंता एवं तनुज कुमार पड़लिया सहायक अभियंता
सर्वश्रेष्ठ अभियंता महिला विजेता अर्चना बहुगुणा
सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता पुरुष विजेता नीरज गोदियाल
सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता पुरुष उप विजेता सुमित सेमवाल
सर्वश्रेष्ठ अवर अभियंता महिला विजेता अंकिता ढकरानी
सर्वश्रेष्ठ अधिकारी पुरुष आलोक कुमार वरिष्ठ विधि अधिकारी
सर्वश्रेष्ठ अधिकारी महिला दीपशिखा वरिष्ठ लेखाधिकारी
सर्वश्रेष्ठ मिनिस्ट्रियल कार्मिक पुरुष विजेता सुबोध कुमार थपलियाल सर्वश्रेष्ठ मिनिस्ट्रियल कार्मिक पुरुष उप विजेता नरेंद्र कश्यप
सर्वश्रेष्ठ मिनिस्टर कार्मिक महिला विजेता सविता रानी
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक एवं तकनीकी स्टाफ पुरुष विजेता श्री रामशंकर
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक एवं तकनीकी स्टाफ पुरुष उप विजेता धीरज मेहरा
सर्वश्रेष्ठ कार्मिक चालक एवं तकनीकी स्टाफ पुरुष उप विजेता नरेंद्र सिंह सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक पुरुष विजेता वीरेंद्र सिंह बिष्ट
सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक महिला विजेता लक्ष्मी
सर्वश्रेष्ठ चतुर्थ श्रेणी कार्मिक पुरुष उपविजेता श्री नामदेव
सर्वश्रेष्ठ उपनल कार्मिक पुरुष विनायक शंकर शुक्ला
सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा गार्ड सुमंत शर्मा

2 thoughts on “उत्तराखंड की आर्थिकी का आधार बने पावर सेक्टर, ऊर्जा प्रदेश बनाने में बिजली कर्मी बनें सहयोगी: मुख्यमंत्री धामी

  1. I have been browsing on-line greater than three hours these days, but I by no means discovered any attention-grabbing article like yours. It’s beautiful value enough for me. In my opinion, if all website owners and bloggers made just right content as you probably did, the web shall be a lot more helpful than ever before.

Leave a Reply

Your email address will not be published.