सिविल सर्विस परीक्षा में उत्तराखंड का रहा जलवा, ऊधमसिंहनगर के शुभम और दून की विशाखा ने हासिल की टॉप पॉजिशन

देश-दुनिया
खबर शेयर करें

देहरादून। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सर्विस परीक्षा-2019 का रिजल्ट जारी कर दिया है। रुद्रप्रयाग उत्तराखंड के मुकुल जमलोकी को इस परीक्षा में 260 वीं रैंक प्राप्त हुई है। मुकुल पिछली बार भी सिविल सर्विस परीक्षा में 405 वीं रैंक के साथ चयनित हुए थे और इस वक्त भारतीय पोस्टल सेवा में उत्तराखंड में कार्यरत हैं।

इससे भी पहले प्रयास में वे भारतीय सूचना सेवा में 504 वी रैंक के साथ चयनित हुए थे और डेढ़ वर्ष से हरियाणा में भारतीय सूचना सेवा में कार्यरत हैं। मुकुल के पिता दूरदर्शन में कार्यरत हैं। इसके अलावा उत्तराखण्ड के अन्य युवकों ने भी इस परीक्षा में सफलता अर्जित की है।

रामनगर निवासी शुभम बसंल ने परीक्षा में ऑल इंडिया 43 रैंक हासिल की है। आरबीआइ कानपुर में जनरल मैनेजर शुभम ने तीसरे प्रयास में यह सफलता हासिल की है। दून की बेटी विशाखा डबराल ने ऑल इंडिया 134वीं रैंक अर्जित की है। यह दूसरा मौका है जब उन्हें सिविल सेवा परीक्षा में कामयाबी मिली है। वह अभी आइपीएस की प्रशिक्षण ले रही हैं।

रुड़की के ओजस्वी राज ने 227वीं, वहीं, दून की प्रियंका को 257वीं ने परीक्षा में 260वीं रैंक हासिल की है। मुकुल इस वक्त इंडियन पोस्टल सर्विस का प्रशिक्षण ले रहे हैं। गोपेश्वर के रहने वाले प्रशांत की 397वीं रैंक है। वहीं बाजपुर, ऊधमसिंहनगर के ऋजुल ने भी सिविलि सेवा परीक्षा में सफलता प्राप्त की। उन्हें 702वीं रैंक मिली है। वह वर्तमान में राज्यसभा में कार्यरत हैं।

जनजातीय क्षेत्र जौनसार बावर की बेटियों ने भी सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की है। नेवी गांव निवासी सृष्टि ने 734 और त्यूणी तहसील अंतर्गत देवाघार खत के मेघाटू गांव निवासी श्रुति शर्मा ने 775वीं रैंक हासिल की। भवाली निवासी अमित दत्त ने 761 रैंक प्राप्त की हैँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.