वैज्ञानिकों का दावा, भविष्य में जानलेवा नहीं, सामान्य सर्दी-जुकाम तक सीमित हो जाएगा कोरोना वायरस

उत्तराखंड कोरोना वायरस देश-दुनिया
खबर शेयर करें

नई दिल्ली। वैज्ञानिकों का दावा है कि भविष्य में कोविड-19 के लिए जिम्मेदार कोरोना वायरस सामान्य सर्दी-जुकाम वाला वायरस रह जाएगा। एक अध्ययन में यह कहा गया है। शोध पत्रिका ‘वायरसेस’ में प्रकाशित एक अध्ययन में गणितीय मॉडल के आधार पर लगाए गए अनुमान में कहा गया है कि मौजूदा महामारी के दौरान मिले अनुभवों से हमारा शरीर प्रतिरक्षा तंत्र में बदलाव कर लेगा।

अमेरिका में यूटा विश्वविद्यालय में गणित और जीव विज्ञान के प्रोफेसर फ्रेड अडलेर ने कहा, ‘‘यह एक संभावित भविष्य को दर्शाता है, जिसके समाधान के लिए अभी तक तमाम कदम नहीं उठाए गए हैं।’’ अडलेर ने कहा, ‘‘आबादी के बड़े हिस्से में प्रतिरक्षा तंत्र तैयार हो जाने से अगले दशक तक कोविड-19 बीमारी की गंभीरता घटती जाएगी।’’

अध्ययन में कहा गया है कि वायरस में आए बदलाव की तुलना में हमारे प्रतिरक्षा तंत्र में आए परिवर्तन की वजह से बीमारी की गंभीरता कम होती जाएगी। इस अध्ययन के मुताबिक टीकाकरण से या संक्रमण के जरिए वयस्कों की प्रतिरक्षा बेहतर होने से अगले दशक तक इस वायरस के कारण गंभीर बीमारी नहीं होगी।

हालांकि अध्ययनकर्ताओं ने कहा कि इस मॉडल में बीमारी के प्रत्येक मामलों पर गौर नहीं किया गया है। उदाहरण के तौर पर अगर वायरस का नया स्वरूप प्रतिरक्षा को भेद देता है तो कोविड-19 गंभीर रूप ले सकता है। फिलहाल इस वायरस को सामान्य न लें। लापरवाही पर वायरस घातक ही नही, जानलेवा साबित हो रहा है। इसलिए लक्षण मिलते ही चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

721 thoughts on “वैज्ञानिकों का दावा, भविष्य में जानलेवा नहीं, सामान्य सर्दी-जुकाम तक सीमित हो जाएगा कोरोना वायरस

  1. Pingback: 2unbecoming
  2. When I originally commented I seem to have clicked the -Notiufy me
    when new comments are added- checkbox and from now on each
    time a comment is added I receive four emails with the exac same comment.
    Is there an easwy method you arre able to remove me from that service?
    Many thanks!

    Also visit my web pagee … køb viagra istedgade

  3. Unum Lawsuit Seeks Disability Benefits for Colo. clomid for pct Doses of 8 mg kg day or more also caused increased resorptions and dead fetuses, dystocia, and delayed parturition, and 40 mg kg day resulted in increased maternal mortality.

  4. I just could not leave your site prior to suggesting that I actually enjoyed the usual info a person supply for your guests?
    Is going to be back continuously to check out new posts

  5. I’m gone to say to my little brother, that he
    should also pay a quick visit this web site on regular basis to get updated from newest news.