मेहनतकश महिलाओं का संघर्षमय जीवन प्रेरणादायक: राज्यपाल

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें

देहरादून : राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने सोमवार को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राजभवन में कोविड-19 महामारी के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं के सम्मान समारोह में जनपद देहरादून एवं हरिद्वार की 51 फ्रन्टलाइन महिला कोरोना वारियर्स को सम्मानित किया।

सम्मानित होने वाली फ्रन्टलाइन महिला कोरोना वारियर्स में पुलिस विभाग, स्वयं सहायता समूहों, नगर निगम की सफाई कर्मी, सामाजिक संगठनों की प्रतिनिधि, स्वास्थ्य कर्मी सम्मिलित थीं। नगर निगम देहरादून, हरिद्वार, रूड़की से 14 पर्यावरण मित्र, स्वास्थ्य विभाग से 11 स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस विभाग से 10 महिला कांस्टेबल एवं स्वयं सहायता समूहों से 16 महिलाओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये राज्यपाल मौर्य ने कहा कि कोराना काल में फ्रन्टलाइन वर्कर्स में एक बड़ा हिस्सा महिलाओं का था। महिला स्वास्थ्य कर्मियों, नर्सों, महिला सफाई कर्मियों, आशा कार्यकत्रियों, महिला पुलिस कर्मियों ने इस सकंटमय काल में पूरी संवेदशीलता के साथ महत्वपूर्ण योगदान दिया। फ्रन्टलाइन महिला वर्कर्स समाज की नींव हैं।

राज्यपाल मौर्य ने कहा कि महिलाओं का मनोबल बढ़ाना आवश्यक है ताकि वे विभिन्न सामाजिक चुनौतियों का सामना साहस के साथ कर सकें। उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपने महिला होने पर गर्व होना चाहिये। भारत में महिलाओं को शक्ति का प्रतीक माना जाता है। उन्हें देवी के रूप में पूजा जाता है। मेहनतकश महिलाओं का संघर्षमय जीवन प्रेरणादायक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.