बड़ी सफलता: कैलाश अस्पताल में 95 साल की महिला की हुई दिल की सफल सर्जरी

उत्तराखंड समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

देहरादून। कैलाश अस्पताल में 95 वर्षीय महिला की सफलतापूर्वक पेसमेकर सर्जरी कर कीर्तिमान स्थापित किया। बताया गया कि रोगी की हृदय गति बहुत कम थी और उसे पेसमेकर सर्जरी की सलाह दी गई थी। ऑपरेशन ने उस मरीज को नया जीवन दिया है।

कैलाश अस्पताल में कार्डियोलॉजी विभाग के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राज प्रताप सिंह ने टीम का नेतृत्व किया। बताया कि यह उत्तराखंड का शायद सबसे उम्रदराज महिला होगी, जिसकी सफलतापूर्वक पेसमेकर इम्प्लांटेशन सर्जरी हुई है। सर्जरी में पेसमेकर लीड को कॉलर बोन और कंधे के पास रक्त वाहिका के माध्यम से हृदय में डाला गया।

प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताते हुए, डॉ. राज प्रताप ने कहा कि “रोगी की उम्र को देखते हुए सर्जरी के दौरान और बाद में किसी भी जटिलता या संक्रमण को कम करने के लिए सभी सावधानियां बरती।” सर्जरी के 4 दिन बाद मरीज को छुट्टी दे दी गई और उसने फिर अपना दैनिक जीवन फिर से शुरू कर दिया।

डॉ. राज प्रताप सिंह हृदय रोग विज्ञान में नई तकनीकों को रोगियों के लिए उपलब्ध कराने के लिए प्रसिद्ध हैं। वह उत्तराखंड और आसपास के क्षेत्र में दुनिया के सबसे छोटे पेसमेकर (MICRA) और सर्जरी के बिना हार्ट वॉल्व रिप्लेसमेंट (TAVI) करने वाले पहले डॉक्टर हैं।

कैलाश अस्पताल देहरादून के निदेशक पवन शर्मा और एमएस डॉ. आतिश सिन्हा ने डॉक्टरों की टीम को उनकी सफलता पर बधाई दी। मरीजों के परिचारकों ने समय पर और सफल उपचार के लिए अस्पताल और कर्मचारियों की सराहना की है।

8 thoughts on “बड़ी सफलता: कैलाश अस्पताल में 95 साल की महिला की हुई दिल की सफल सर्जरी

  1. Can I simply say what a aid to seek out somebody who truly knows what theyre talking about on the internet. You positively know how you can deliver a difficulty to gentle and make it important. More folks have to read this and perceive this aspect of the story. I cant imagine youre no more widespread since you definitely have the gift.

Leave a Reply

Your email address will not be published.