बड़ी खबर : कोरोना के खिलाफ कारगर नहीं है एन-95 मास्क

देश-दुनिया
खबर शेयर करें

कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ एन-95 मास्क को बचाव का ठोस उपाय मानने वालों के लिए गंभीर चेतावनी है। केंद्र सरकार ने कहा है कि एन-95 मास्क कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कारगर नहीं है। इस संबंध में केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिख कर एडवायजरी जारी की है।

पत्र में लिखा गया है कि छिद्रयुक्त एन-95 मास्क कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए नहीं है और इस्तेमाल करने वालों के लिए हानिकारक हो सकते हैं। सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करने की सलाह दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक, राजीव गर्ग द्वारा राज्यों के स्वास्थ्य और मेडिकल शिक्षा के मुख्य सचिवों को लिखे गए पत्र में लिखा गया है, ऐसा देखा गया है कि जनता और स्वास्थ्य कर्मचारियों की ओर से एन-95 मास्क का गलत तरीके से इस्तेमाल किया जा रहा है, खासकर वो मास्क जिसमें छेद हैं।

पत्र में घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है साथ ही कहा गया है कि लोग स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध फेस मास्क को खरीद सकते हैं।  सरकार ने लोगों से अपील की कि वो घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करें। इससे पहले अप्रैल में भी सरकार ने एडवाइजरी जारी कर कहा था कि घर से बाहर निकलने पर घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करें ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके। 

केंद्रीय स्वास्थ्यमंत्री डाक्टर हर्षवर्धन ने भी ट्वीट कर मास्क से जुड़ी सलाह जारी की है। डाक्टर हर्ष वर्धन ने ट्वीट किया, ‘छिद्रयुक्त श्वसन यंत्र लगा N-95 मास्क कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए गए नियमों के विपरीत है। सभी से आग्रह है कि कपड़े से बने ट्रिपल लेयर मास्क का इस्तेमाल करें व अन्य को इसके प्रति प्रोत्साहित भी करें।’ मालूम हो कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ कर 1155191 हो गई है।

  

Leave a Reply

Your email address will not be published.