बगैर श्रद्धालुओं के विधि-विधान के साथ खुले गंगोत्री धाम के कपाट

उत्तराखंड देश-दुनिया समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

उत्तरकाशी। यमनोत्री धाम के बाद शनिवार को  सुबह 7 बजकर 31 मिनट पर गंगोत्री धाम के कपाट भी पूरे विधि विधान के साथ खोल दिये गए हैं। कोविड गाइडलाइन के साथ बिना श्रद्धालुओं के कपाट खोले गए हैं।

बता दें कि कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया था, लेकिन चारधाम मंदिरों के कपाट समय से खोलने को कहा था। जिसमें बिना श्रद्धालुओं के पुजारी ओर तीर्थ पुरोहितों की उपस्थिति में कपाट खोले जाने की बात कही।

विश्व प्रसिद्ध हिमालयी धाम गंगोत्री के कपाट आज शनिवार को निर्धारित मुहूर्त पर सुबह 7.31 बजे विधि विधान एवं धार्मिक अनुष्ठान के साथ खोले गए। बैशाख शुक्ल तृतीया की शुभ बेला में गंगोत्री मंदिर का कपाटोद्घाटन हुआ। तीर्थ पुरोहित और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में ही धाम के कपाट खोले गए।

आज से तीर्थ पुरोहित सीमित संख्या में गंगोत्री मंदिर में नियमित रूप से मां गंगा की पूजा अर्चना करेंगे। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि मां गंगा से प्रार्थना है कि कोरोना महामारी से सभी को सुरक्षित रखने के लिए अपना आशीर्वाद बनाए रखे।

मानव जाति को जल्द से जल्द कोरोना संक्रमण से मुक्ति मिले। हमारा देश और प्रदेश फिर से प्रगति की राह पर अग्रसर हो सके।

15 thoughts on “बगैर श्रद्धालुओं के विधि-विधान के साथ खुले गंगोत्री धाम के कपाट

  1. In the great scheme of things you receive an A+ with regard to hard work. Where you confused us ended up being on all the specifics. You know, they say, the devil is in the details… And it could not be much more true in this article. Having said that, let me inform you just what exactly did work. Your writing is certainly very engaging which is probably the reason why I am taking an effort in order to opine. I do not make it a regular habit of doing that. Second, while I can see the leaps in reasoning you come up with, I am not necessarily sure of how you seem to unite your details which inturn produce the final result. For right now I will subscribe to your position however wish in the near future you actually connect the facts better.

Leave a Reply

Your email address will not be published.