पॉवर बैंक ‘एप’ से रकम दोगुना कर करोड़ों की धोखाधड़ी, क्रिप्टो करेंसी के जरिए चीन भेजी गई रकम के मामले में उत्तराखंड एसटीएफ ने की पेटीएम, ई-वॉलेट और रोजर-पे पर बड़ी कार्रवाई

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें

– पावर बैंक ‘एप’ में निवेश के नाम पर धोखाधड़ी के प्रकरण में प्रतिनिधि तलब

– पेटीएम व रोजर पे जल्द राष्ट्रीय स्तर पर वालेट ट्राजेक्शन की सुरक्षा में करेगा सुधार

– एसटीएफ ने कानूनी नोटिस उपरांत तलब किये गए पेमेंट गेटवे के अधिकारी

देहरादून। साइबर अपराधियों द्वारा पावर बैंक नामक एप के माध्यम से पैसे इन्वेस्ट करने पर 15 दिन मे पैसे दोगुने करने का लालच देकर आम जनता से धनराशि विभिन्न ई-वालेट (पेटीएम/रोजर पे ) के माध्यम से प्राप्त कर विभिन्न बैक खातो में जमा कराकर करोड़ो रुपये की धोखाधड़ी को अंजाम दिया जा रहा है ।

जिस पर उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा ऐसे अपराधों की रोकथाम हेतु स्पेशल टास्क फोर्स के साथ मिलकर पूरे राज्य में पावर बैक के नाम से धोखाधडी की प्राप्त शिकायतो में 08 प्रकरणों में अभियोग पंजीकृत किया गया। अभियोगों की विवेचना में अब तक 02 अभियुक्तो की गिरफ्तारी की गयी| बैंगलोर में 04 अभियुक्त एवं दिल्ली में 02 अभियुक्त के विरूद्ध वारण्ट तामील कराकर जल्द देहरादून में पेश किया जायेगा।

इसके अलावा प्रकाश में आये अन्य 02-अभियुक्त ( नागाभूषण तथा सुकन्या पत्नि नागाभूषण ) को बैंगलोर में नोटिस तामील कराया गया। उक्त प्रकार के अपराधो के पूरे देश से आँकडे एकत्रित किये गये तो प्रकाश में आया की पावर बैक सम्बन्धी पूरे देश में करीब 250 अभियोग विभिन्न राज्यो में पजीकृत कराये गये है, जिसमें पूरे देशभर में करीब 20 अभियुक्तो की गिरफ्तारी की गयी है ।

प्रकरण काफी गम्भीर एवं इसमे विदेशी नागरिको/कम्पनियो के जुड़े होने के साक्ष्य प्राप्त होने के कारण राष्ट्रीय एजंसियो CBI, IB, ED आदि से भी समन्वय स्थापित कर सहयोग लिया जा रहा है, साथ ही अन्तराष्ट्रीय एजेंसियो से भी सम्पर्क स्थापित करने का प्रयास जारी है ।

जांच में ये खुले राज

अभियोग में विवेचना के दौरान पाया कि आरोपियो द्वारा धनराशि के लेनदेन हेतु अधिकांशतः RAZORPAY & Paytm Wallet/Gateway का प्रयोग किया गया । उक्त सम्बन्ध में टीम द्वारा RAZORPAY & Paytm Gateway से सम्पर्क कर करोड़ो की धोखाधड़ी में RAZORPAY/ Paytm Gateway का उपयोग होना तथा आरोपियों के सम्बन्ध में जानकारी उपलब्ध कराने की अपेक्षा की गयी ।

एसटीएफ ने इन को किया तलब

एसटीएफ के उत्तराखंड प्रभारी अजय सिंह ने बताया कि इसी क्रम में RAZORPAY के legal Head के द्वारा दिनांक 01-06-2021 को साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन बैंगलोर मे पावर बैंक से सम्बन्धित कम्पनियों 1- H&S Ventures Inc, 2- Clifford Ventures, 3- Lorfly Technology Pvt. Ltd., 4-Biosoft Ventures Inc, 5-Maojaza Technology Pvt. Ltd. 6- Divyam Infracon Pvt. Ltd., 7- 360TEQ Software Pvt. Ltd,

8-Centrono Solution Pvt. Ltd, 9- Purplehues Sunny Communication Pvt. Ltd, 10- Sachin Mapleleaf Communication (OPC) के निदेशको सहित 13 कंपनिओं के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराया गया ।

क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से चीन भेजी रकम

साईबर थाने द्वारा तकनीकी रुप से यह जानकारी भी प्राप्त की गयी जिसमे कि धोखाधड़ी से प्राप्त कुछ धनराशि को क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से चीन भेजे जाने के साक्ष्य प्राप्त हुये है, साथ ही धोखाधड़ी के लिए प्रयुक्त पावर बैंक एप को Hongkong China से संचालित किया जा रहा था ।

वर्तमान में प्रचलित अन्य कई संदिग्ध एप के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त हुई है, जो इसी प्रकार के अवैध कार्यो मे लिप्त है जिनमे मुख्यतः Tesla Power Bank, EZ Point, Sun factory, Lightening Power Bank, EZ Coin, Fish+ आदि सम्मिलित है ।

यहां होगी प्रतिनिधियों से पूछताछ

प्रकरण में RAZORPAY & Paytm Wallet/Gateway की भूमिका के सम्बन्ध में दिनांक 01.07.2021 एवं 05.07.2021 को उक्त वाँलेट के प्रतिनिधियों को दिल्ली व बैगलोर से साइबर थाने पर तलब किया गया।

जहां वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्पेशल टास्क फोर्स के नेतृत्व में प्रतिनिधियों से प्रकरण में गेटवे की भूमिका के सम्बन्ध में गहन पूछताछ करते हुये महत्वपूर्ण बिन्दूओ जैसे के0वाई0सी0 की प्रक्रिया /गलत मोबाइल व ईमेल का प्रयोग कर वालेट खोलने, अभियोग से सम्बन्धित दस्तावेजो को पेश करने, वालेट द्वारा सम्बन्धित के विरुद्व अभियोग पंजीकरण में विलम्ब, भविष्य में ई-वालेट के प्रयोग व सुरक्षा मानको के सम्बन्ध में विस्तृत पूछताछ व चर्चा की गयी।

RAZORPAY & Paytm Wallet/Gateway की लीगल टीम को पावर बैक प्रकरण के सम्बन्ध में उनकी भूमिका के सम्बन्ध में लिखित में जवाब प्रेषित किये जाने हेतु बताया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published.