पेयजल निगम के पूर्व एमडी भजन सिंह पर विजिलेंस का शिकंजा

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल
खबर शेयर करें
  • आय से अधिक सम्पत्ति और एमडी के पद पर गलत नियुक्ति समेत पेयजल योजनाओं में की गई गम्भीर अनियमितताओं की विजिलेंस ने की जांच शुरू

देहरादून। आय से अधिक सम्पत्ति मामले में उत्तराखंड पेयजल निगम के पूर्व प्रबन्ध निदेशक भजन सिंह पर विजिलेंस ने भी शिकंजा कस दिया है। विजिलेंस ने भजन सिंह के घपले-घोटालों की जांच शुरू कर दी है।

दूसरी ओर शासन स्तर पर भी उनके खिलाफ जांच जारी है। आईएएस नीरज खैरवाल जांच कर रहे हैं। हाईकोर्ट में भी भजन सिंह के भ्रष्टाचार की याचिका पर अंतिम सुनवाई हो गई है, जिसका फैसला आना बाकी है। चारों तरफ घिरने से भजन सिंह ली मुश्किलें बढ़ गई है। सूत्रों की मानें तो भजन सिंह पर जल्द बड़ी कार्रवाई हो सकती है। सूत्रों की मैनें तो भजन सिंह पर विजिलेंस कड़ा शिकंजा कस सकती है।

भजन सिंह करीब 10 वर्षों तक पेयजल निगम के प्रबन्ध निदेशक के पद पर रहे हैं, लेकिन पूरे कार्यकाल में वह पेयजल योजनाओं में घपले घोटालों के चलते विवादों में रहे हैं। निर्माण कार्यों के टेंडर में भी गड़बड़ी के उन पर कई आरोप हैं।

उन पर यह भी आरोप है कि एमडी की नियमावली में फेरबदल कराकर वह लंबे समय तक नियम विरुद्ध तरीके से पद पर बने रहे। जबकि वह निगम में वरिष्ठता में काफी कनिष्ठ हैं। इसके बावजूद वह कुर्सी पर जमे रहे।

यही नही रिटायरमेंट के बाद भी वह आखिरी तक एक्सटेंशन की जुगत में लगे रहे, लेकिन उनकी यह मुराद पूरी नहीं हो पाई और वह बड़े बेआबरू होकर रिटायर हो गए। यह शायद पहले अधिकारी होंगे जो इतने लम्बे समय सरकारी सेवा में रहने के बाद वह धुमधाम से विदाई स्वागत सत्कार समारोह के बजाय सीधे ओंधे मुंह अपने कूचे को चले गए।

बताया तो यह भी जा रहा उनकी और से रिटायरमेंट पार्टी जीएमएस रोड स्थित एक होटल में रखी गई थी, लेकिन पार्टी में एक दर्जन भी अधिकारी-कर्मचारी नहीं पहुंचे। इससे बड़ा दुर्भाग्य किसी के लिए और क्या हो सकता है की 60 साल की सेवा के बाद भी वह साठ लोगों को भी पार्टी में नहीं जुटा सके।

इससे जाहिर होता है कि साहब हमेशा धन के पीछे भागते रहे। निगम कर्मों की समस्याओं को कभी उन्होंने तब्बजो नहों दी और न कभी समस्याओं को हल करने का ही प्रयास किया। शायद यही वजह है कि कर्मचारी उनसे इतने विमुख होते चले गए की आज किसी को उनके रिटायर होने पर लेशमात्र भी गम नहीं है।

यह बात भी सर्वविदित है कि अकेले तो कोई स्वर्ग भी नहीं जा सकता है। वहां जाने के लिए करोड़ों रुपये और अकूत धन-दौलत की नहीं, बल्कि चार लोगों के कांधा देने की जरूरत पड़ती है। यदि जिन्दगी भर तक कोई चार लोगों को भी नहीं जोड़ पाया तो ऐसी जिन्दगी को लानत है। यहां किसी को हतोत्साहित या दिल को ठेस पहुंचाने की मंशा नहीं है।

बहरहाल मुद्दा यह है कि घपले-घोटालों के चलते पूरी 60 साल की सेवा में विवादों में रहे भजन सिंह रिटायरमेंट के बाद भी सुकून की जिंदगी नहीं जी पा रहे हैं। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार और एमडी के पद पर गलत नियुक्ति से सम्बंधित कई याचिकाएं हाईकोर्ट में चल रही है।

सरकार भी हाईकोर्ट में जबाव देते-देते थक गई थी, जिसके बाद सरकार ने उन्हें एमडी के पद से हटाने का फैसला लेकर रिटायरमेंट तक उन्हें पेयजल सलाहकार बनाया। एमडी के पद से हटने के दो माह बाद वह सलाहकार के पद से एक सप्ताह पूर्व 30 सितम्बर को रिटायर हो गए हैं।

बता दें कि रिटायरमेंट से करीब दो माह पूर्व भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने उन्हें एमडी के पद से हटा दिया था और उनके भ्रष्टाचार की जांच आईएएस नीरज खैरवाल को सौंपी थी।

जांच एक माह में पूरी करने के भी मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए थे। लेकिन अभी तक जांच अधिकारी ने रिपोर्ट नहीं सौंपी। बताया जा रही है कि जांच लगभग पूरी हो चुकी है। जल्द ही सीएम को जांच रिपोर्ट सौंपे जाने की चर्चा है। कर्मचारी संगठन भी लगातार भजन सिंह के भ्रष्टाचार की जांच की मांग करते आ रहे हैं। जिससे सरकार भी दबाव में है।

उधर, मुख्य सचिव ओमप्रकाश की अध्यक्षता में गठित राज्य सतर्कता समिति की बैठक में भजन सिंह के खिलाफ विजिलेंस जांच की संस्तुति की गई, जिसके बाद शासन ने आरोपों की जांच विजिलेंस को सौंप दी।

विजिलेंस ने इंस्पेक्टर तुषार बोरा को जांच अधिकारी बनाया है। विजिलेंस अफसरों ने भजन सिंह के आय से अधिक सम्पत्ति मामले के दस्तावेजों की पड़ताल शुरू कर दी है। विजिलेंस से जुड़े अफसरों ने जांच शुरू करने की पुष्टि की है। जल्द ही भजन सिंह पर विजिलेंस कड़ा शिकंजा कस सकती है।

29 thoughts on “पेयजल निगम के पूर्व एमडी भजन सिंह पर विजिलेंस का शिकंजा

  1. Several studies, in fact, have addressed the relationship between ER expression, estrogen metabolism and biliary excretion and the development and course of chronic liver diseases stromectol tablete In the international phase II trial, documented symptom improvement occurred in 40 of individuals receiving gefitinib 250 mg

  2. Immunosuppressive therapies eg, irradiation, antimetabolites, alkylating agents, cytotoxic drugs, corticosteroids greater than physiologic doses may reduce immune response to dengue vaccine buy nolvadex The first interventions in which DHA was added to infant formula were designed for infants born preterm because, in the absence of in utero maternal transfer, these infants were the likeliest to benefit from supplementation

  3. Brand Glioz Packaging Type 5 capsules in 1 strip Usage Application Brain tumor Anti Cancer Medicine Type Brain tumor Composition Temozolomide 100mg Drug Name Temozolomide 100mg Dose Strength 100mg Category Brain Tumor Generic Name Temozolomide 100mg Type Allopathic Product Type Finished Product How to use Glioz CapsuleTake this medicine in the dose and duration as advised by your doctor spironolactone and lasix

  4. What i do not realize is actually how you’re not actually much more well-liked than you may be right now. You’re so intelligent. You realize thus significantly relating to this subject, made me personally consider it from a lot of varied angles. Its like men and women aren’t fascinated unless it’s one thing to accomplish with Lady gaga! Your own stuffs great. Always maintain it up!

  5. zidovudine rosuvastatin ratiopharm 10 mg nebenwirkungen The yen has been rising this month as investors shed riskand seek the perceived safe haven of the Japanese currency stromectol 12 mg Second, tamoxifen, in addition to its partial estrogen agonist activity on lipoprotein metabolism, can induce severe hypertriglyceridemia and pancreatitis 2, 22

  6. online generic cialis We summarise these results qualitatively, categorising them as either reporting a positive effect of treatment a significant reduction in any of the above metrics post treatment or no effect of treatment no significant change in any of the above metrics; none of the studies reported an increase in the target parasite prevalence, abundance, or intensity post treatment

  7. I have been surfing online more than 3 hours today, but I never found any fascinating article like yours. It is lovely value enough for me. In my opinion, if all site owners and bloggers made good content material as you did, the net will probably be much more useful than ever before. “When there is a lack of honor in government, the morals of the whole people are poisoned.” by Herbert Clark Hoover.

  8. I was recently in an arguement upon which people said Nolva is fine and gyno after it is progesterone based and thus has nothing to do with the nolva buy real cialis online A double blind, parallel group, placebo controlled, multicentre study of acetyl L carnitine in the symptomatic treatment of antiretroviral toxic neuropathy in patients with HIV 1 infection

Leave a Reply

Your email address will not be published.