पहाड़ों की रानी मसूरी जल्द होगी जाम से मुक्त, लाईब्रेरी से जीरो प्वाइंट तक बनेगी करीब 3 किमी.टनल

उत्तराखंड देश-दुनिया राजकाज
खबर शेयर करें

देहरादून। सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो आने वाले समय में पहाड़ों की रानी मसूरी के लाइब्रेरी से जीरो पॉइंट तक टनल का निर्माण कार्य शुरू हो जायेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने मसूरी के लिए 700 करोड़ रुपये की टनल परियोजना की सौगात दी है। इससे टनल बनने के बाद पहाड़ों की रानी को ट्रैफिक जाम से काफी हद तक मुक्ति मिल सकेगी है।

टनल निर्माण के लिए मंत्रालय से पूर्व में ही सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई थी। मंत्रालय द्वारा इस परियोजना को धरातल पर लाने के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंसी तय करने के लिए एक कमेटी बनाई थी। इस कमेटी ने कंसल्टेंट तय कर दिया है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के दिल्ली से लौटते ही केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ट्विटर जानकारी दी है कि ‘मसूरी शहर माल रोड व लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी तक भीड़ भाड़ मुक्त व सुगम सड़क कनेक्टिविटी के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंसी अवॉर्ड कर दी गई है। मसूरी टनल की लंबाई 2.74 किमी होगी, जिसके लिए 700 करोड़ का बजट है।

राष्ट्रिय राजमार्ग के अधिकारिक सूत्रों के अनुसार कंसल्टेंस एजेंसी अब मसूरी टनल की डीपीआर तैयार करेगी। पहाड़ी को काटकर टनल बनाई जानी है, उसका भूगर्भीय सर्वेक्षण भी होगा। डीपीआर बनाने के कार्य में कम से कम एक साल का समय लगेगा।

सैनिक कल्याण एंव औद्योगिक विकास मंत्री गणेश जोशी ने केन्द्रीय सड़क परिवहन एंव राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी का आभार व्यक्त किया है। इसके बाद, काबीना मंत्री ने सचिवालय में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मुलाकात कर उनका आभार जताया।
बता दें मसूरी टनल बनाने के लिए पिछले कई सालों से प्रदेश में सत्तारूढ़ सरकारों हरीश रावत सरकार ने भी प्रयास किए, लेकिन कामयाबी वर्तमान भाजपा सरकार में मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.