“द वॉइस ऑफ हिल” सिंगिंग शो से मिलेगा नए कलाकरों को मंच

उत्तराखंड समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

देहरादून-   समय समय पर आयुर विजन ग्रुप कई प्रतियोगिताओं के माध्यम से लोगों के भीतर के टैलेंट को मंच देने का काम कर रहा है। योग दिवस के अवसर पर योगा प्रतियोगिता, रक्षाबंधन त्यौहार में होममेड राखी प्रतियोगिता एवं दीपावली के अवसर पर ऐपण प्रतियोगिता जैसे कई अन्य राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिताए आयुर विजन ग्रुप करवा चुका है।     

उत्तराखंड के गायक कलाकारों को आगे बढ़ाने एवं उचित मंच देने के उद्देश्य से आयुर विजन ग्रुप उत्तराखंड की संस्कृति पर आधारित “द वॉइस ऑफ हिल” सिंगिंग शो राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित करने जा रहा है, जिसके ऑडिशन 5 जनवरी से 30 जनवरी तक होंगे, ऑडिशन राउंड इंडियन आइडल के तर्ज पर ऑनलाइन होगा। ग्रांड फिनाले 28 फरवरी को भव्य रूप से हल्द्वानी में आयोजित किया जाएगा, ग्रांड फिनाले को उत्तराखंड के सभी केबल नेटवर्क के साथ ग्रुप के ऑफिसियल पेज और चैनल पर प्रसारित किया जाएगा।

विजेता को “द वॉइस ऑफ हिल” के टाईटिल से सम्मानित किया जाएगा, इसके अलावा नकद पुरस्कार , म्यूजिक एल्बम, एवं परिवार के साथ टूर , गिफ्ट हेंपर्स एवं आकर्षक ट्रॉफी दी जाएगी।   द वॉइस ऑफ हिल सिंगिग शो 7 से 18 वर्ष तक जूनियर और 19 से अधिक वर्ष के लोग सीनियर वर्ग में हिस्सा लेंगे।  एवं सभी प्रकार की संगीत विधाएं मान्य होंगे।द वॉइस ऑफ हिल सिंगिग शो में निर्णायक के तौर पर उत्तराखंड की लोकप्रिय लोकगायिका माया उपाध्याय जी।       

संगीत में पीएचडी, आरके म्यूजिक संस्थान की निर्देशिका, गायिका, डॉक्टर गुंजन जोशी जी।         और गडवाल से उत्तराखंड के युवा लोक गायक सौरव मैठानी जी हैं।उत्तराखंड में सबसे अधिक सांस्कृतिक कार्यक्रम मकर संक्रान्ति को देखने को मिलते है , जगह जगह पर कई मेलों के माध्यम से कई कलाकार अपनी प्रतिभा को दिखाते हैं। लेकिन इस बार कोरोना के चलते ऐसे आयोजन नहीं हो पाएंगे। जिससे कई कलाकारों में हताशा है।

लेकिन “द वॉइस ऑफ हिल” सिंगिंग शो के माध्यम से कई कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए बहुत बड़ा मंच मिलेगा।इस कार्यक्रम की सफलता के लिए आयुर विजन ग्रुप की टीम को उत्तराखंड के जगर सम्राट पद्मश्री डॉक्टर प्रीतम भरतवाण जी, सुप्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा जी, आनंद कोरंगा जी, दानपुर म्यूजिक से मीरा आर्य जी, थल की बाजार गीत के गायक बी. के. सामंत, छोलियार और केदार फिल्म के मुख्य किरदार देवा धामी, गोपाल रावत, हरीश रावत, वन्दे मातरम ग्रुप से शैलेन्द्र दानू, राहबर परिवार से दीपांशु कुवर सहित कई लोगों ने शुभकामनाएं दी।

पिछले 2 हप्ते से द वॉइस ऑफ हिल का सोशियल मीडिया पर प्रमोशन शुरू हो गया था अभी तक आयोजकों के पास प्रदेश के सारे जनपदों सहित चंडीगढ़ , दिल्ली, पंजाब, सिक्किम ,आगरा, मेरठ जैसे कई शहरों से इंक्वायरी आ चुकी है।   आयुर विजन ग्रुप चार युवाओं भूपेंद्र कोरंगा, कु. विजया कोरंगा, दीपक सिंह बिष्ट एवं धीरज बिष्ट द्वारा स्थापित किया है, जिसके माध्यम से उत्तराखंड के प्योर पहाड़ी उत्पादों को पूरे भारत देश में पहुंचाने के उद्देश्य पर कार्य कर रहे हैं। जिसमें मुख्यत कीवी उत्पादन एवं कीवी जूस, जैम, चटनी और केंडी जैसे उत्पाद हैं। इसके अलावा उत्तराखंड की संस्कृति को संवारना एवं प्रचार प्रसार करना, कई लोगों को रोजगार से जोड़ना आयुर विजन ग्रुप का मुख्य उद्देश्य है।

10 thoughts on ““द वॉइस ऑफ हिल” सिंगिंग शो से मिलेगा नए कलाकरों को मंच

  1. Hiya, I am really glad I’ve found this information. Nowadays bloggers publish just about gossips and internet and this is actually frustrating. A good website with interesting content, that’s what I need. Thank you for keeping this web-site, I’ll be visiting it. Do you do newsletters? Cant find it.

  2. The subsequent time I read a weblog, I hope that it doesnt disappoint me as a lot as this one. I imply, I do know it was my choice to read, however I truly thought youd have something fascinating to say. All I hear is a bunch of whining about something that you can fix if you werent too busy on the lookout for attention.

  3. Thank you a lot for giving everyone an extraordinarily special opportunity to read critical reviews from this blog. It is always very pleasing plus full of amusement for me personally and my office acquaintances to visit your website a minimum of 3 times every week to learn the newest guides you have. Not to mention, I am just actually amazed with the beautiful thoughts you give. Some 2 tips on this page are clearly the most beneficial I have ever had.

  4. Throughout the grand pattern of things you get an A+ for effort and hard work. Where you confused us was in all the particulars. You know, they say, the devil is in the details… And it couldn’t be more correct here. Having said that, let me tell you precisely what did work. Your writing is definitely extremely powerful and that is possibly why I am taking the effort to comment. I do not make it a regular habit of doing that. Second, whilst I can certainly see the jumps in logic you come up with, I am not necessarily convinced of exactly how you seem to connect the ideas which inturn produce the actual final result. For the moment I will yield to your position however trust in the future you actually link your dots much better.

Leave a Reply

Your email address will not be published.