देवभूमि किसान विकास निधि लिमिटेड बन रहा उत्तराखंड में रोजगार का बड़ा जरिया: पूनम सती

उत्तराखंड रोजगार
खबर शेयर करें
– देवभूमि निधि ने सादगी से मनाया स्वतंत्रता दिवस, नया टारगेट किया गया लक्षित, अच्छा कार्य करने वाले मेम्बर्स को सम्मानित कर दिया गया नकद पुरस्कार
देहरादून। देवभूमि किसान विकास निधि लिमिटेड ने आजादी के पर्व स्वतंत्रता दिवस को कोरोना महामारी के चलते बहुत ही सादगी ढंग से मनाया। संस्थान के निदेशक मंडल ने देश के स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हुए सभी सदस्यों, कार्यकर्ताओं और हितधारकों के साथ आम जन मानस को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी। साथ ही आने वाले समय में संस्थान को उच्च शिखर पर ले जाने का संकल्प लिया। इसके लिए उन्होंने संस्थान से जुड़े हर मेम्बर्स से तन-मन से कार्य करने की अपील की है।

संस्थान के शास्त्री नगर स्थित मुख्यालय में आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि प्रसिद्ध लोक गायिका पूनम सती ने कहा कि देश की आजादी के लिए जिन महान क्रांतिवीरों ने कुर्बानी दी उन्हें देश हमेशा याद करता रहेगा। उन्होंने उत्तराखंड की जनता से अपील की है वह उत्तराखंड के उत्पादों के साथ-साथ उत्तराखंड के संस्थानों को बढ़ावा दें। उन्होंने कहा कि देवभूमि किसान विकास निधि लिमिटेड बैंकिंग क्षेत्र में ईमानदारी से आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि यह उत्तराखंड का अपना बैंक है, जिसे सभी को मिलकर आगे बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हम सब्बल होंगे, तो राज्य और देश अपने आप प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा। उन्होंने आम जनता से अपील की है वह ज्यादा से ज्यादा संख्या में जुड़कर देवभूमि किसान विकास निधि को आगे बढ़ाएं। इस दौरान श्रीमती सती ने सैकड़ों युवा नौजवानों को रोजगार देने के लिए देवभूमि किसान विकास निधि लिमिटेड के निदेशक मंडल का आभार व्यक्त किया है।

कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक संजय जुयाल ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए उपस्थित सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में संस्थान की सेवाओं में और विस्तार किया जाएगा। श्री जुयाल ने कहा कि कोरोनाकाल में कम्पनियों में काम कर रहे तमाम लोगों की नौकरियां चले गई, लेकिन ऐसे विकट समय मे भी संस्थान अपने एक्टिव मेम्बर्स के साथ खड़ा रहा।

 

खास बात यह रही कि कोरोना अवधि में भी कई मेम्बर्स ने संस्थान से अधिक इंसेंटिव अर्जित किया है। उन्होंने इस दौरान मार्केट में चल रही फर्जी संस्थाओं से सभी मेम्बर्स को सचेत रहने के साथ ही आम आदमी को जागरूक कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2021-22 के लिए संस्थान ने 10 से 12 करोड़ का टर्नओवर अर्जित करने का लक्ष्य तय किया गया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सभी मेम्बर्स के कड़े परिश्रम से संस्थान टारगेट अचीव करने में सफल होगा।

 

संस्थान के निदेशक मुकेश भट्ट ने उत्तराखंड के आम जनमानस को संस्थान से जुड़ने का अपील की है। उन्होंने कहा कि संस्थान छोटी-छोटी बचत से बड़ी बचत करने की ओर निरन्तर अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि संस्थान अपने उद्देश्यों की पूर्ति करने में सफल हो रहा है। संस्थान लगभग डिजिटिलाइज हो गया है। अब आरडी और डीडी सीधे ऑनलाइन जमा की जा सकेगी।

 

उन्होंने संस्थान पर विश्वास जताने वाले सभी जनों का आभार जताया। उन्होंने भरोसा दिलाया कि वह इस विश्वास को बरकरार रखेंंगे। उन्होंने कहा कि संस्थान ने बहुत कम समय में कई उपलब्धियां हाडिल की है, जिसके लिए उन्होंने सभी सक्रिय मेम्बरों का आभार जताया।

श्री भट्ट ने कहा कि प्रतिस्पर्धा के इस दौर में ईमानदारी से काम करना चुनौती भरा है, लेकिन संस्थान इन चुनौतियों को बखूबी पार कर रहा है। इस क्षेत्र में तमाम ऐसे संस्थान आ गए हैं, जो लोगों को अधिक ब्याज ही नहीं कम समय में रकम दोगुनी करने का प्रलोभन दे रहे हैं और 2-3 साल बाद ऐसे संस्थान रातों-रात चंपत होकर लोगों का जमा करोड़ों रुपये डकार रहे हैं।

बाद में पूंजी लगाने वालो के हाथ निराशा ही हाथ लगती है। ऐसे संस्थानों से सावधान रहने की जरूरत है।  उन्होंने कहा कि देव भूमि किसान विकास निधि लिमिटेड छठे साल में प्रवेश कर गया है, लेकिन आज तक किसी की भी मैच्यूरिटी नहीं रुकी है। आगे भी संस्थान त्वरित ढंग से सेवा प्रदान करता रहेगा।

 

इस दौरान संस्थान ने समर्पित होकर कार्य करने वाले मेम्बर्स को सम्मानित भी किया। जुलाई माह में जारी एफडी प्रतियोगिता में जिन एक्टिव मेम्बरों ने भागेदारी की है, उन्हें इंसेंटिव के अलावा नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साथ ही भविष्य में इस तरह की प्रतियोगिताओं में सभी मेम्बर्स को भागीदारी कर अधिक इनकम अर्जित करने की अपील की गई।

इस अवसर पर ज्योति जुयाल, रविन्द्र बलोनी, प्रवीन नेगी, त्रिभुवन पांडे, अशोक नौगाई, प्रतिभा रावत, महिमा नन्द गौड़, सुरेंद्र कोहली, मनीष बैनोला, अभिषेक राणा, हर्ष मोहन डबराल, मनवीर भंडारी, धनवीर खरोला, रोशन रावत, राकेश मिश्रा, बृज पंवार, धर्मिष्ठा भट्ट, सुमन चमोली, वीरेंद्र सिंह, सुमित्रा, सावित्री देवी, विनीता शर्मा, धीरेंद्र भट्ट  महेश गौड़, विकास रावत, अर्चना कोठियाल, रेनू अमोली और अभिषेक राणा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.