दुस्साहस: ऋषिकेश के एक व्यक्ति का अपहरण कर की हत्या, आरोपियों ने शव को यूपी के बिजनौर में जला डाला

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें

देहरादून। ऋषिकेश पुलिस ने 15 जनवरी से गुमशुदा व्यक्ति के मामले का खुलासा करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया। दावा किया गया कि उन्होंने उक्त व्यक्ति की हत्या कर दी है। शव को बिजनौर जिले में ले जाकर जला दिया गया है। हत्या का कारण पत्नी पर गलत निगाह रखना बताया जा रहा है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त महिंद्रा जायलो वाहन के साथ ही गुमशुदा व्यक्ति की स्कूटी भी बरामद कर ली। देहरादून के एसएसपी डॉ. वाईएस रावत ने इसका खुलासा किया।

ये था पूरा मामला
पुलिस के मुताबिक मायाकुंड ऋषिकेश निवासी रुपेश गुप्ता ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके पिता राजकुमार गुप्ता दिन में एक बजे अपनी स्कूटी से घर से निकले, जो वापस नहीं आए। उन्होंने रिश्तेदारो के यहां उनकी तलाश की, लेकिन कोई पता नहीं चल सका। इस संबंध में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच के लिए चार अलग अलग टीमें गठित की।

राजकुमार के साथ दिखा संदिग्ध
पुलिस टीम ने घटना स्थल, निजी सस्थानो, दुकानों, घरों के बाहर लगे लगभग 55 सीसीटीवी कैमरो को चेक किया। सीसीटीवी फुटेज में दिखा कि राजकुमार गुप्ता अपने घर से अपनी स्कूटी से अकेले मंडी तिराहा होते हुए काले की ढाल से नंदू फार्म तक तथा नंदू फार्म तक गए। इसके बाद एक अन्य व्यक्ति के साथ सोमेश्वर नगर की तरफ जाते दिखाई दिए। पुलिस ने उक्त व्यक्ति की पहचान सुरेश चौधरी निवासी बापू ग्राम के रूप में की।

तीन आरोपियों ने बताया जला दिया
इस पर पुलिस टीम ने सुरेश चौधरी की तलाश के लिए उसके निवास स्थान पर दबिश दी। उसके घर पर दो अन्य व्यक्ति मौजूद मिले। वहीं, जायलो वाहन भी मिल गया। इस पर तीनों को थाने ले जाकर पूछताछ की तो उन्होंने सच्चाई उगल दी। बताया कि राजकुमार गुप्ता की हत्या कर शव को जनपद बिजनौर क्षेत्र के मण्डावर इलाके में जला दिया।

मंडावर थाने से की पुष्टि
इन आरोपियों की बात की पुष्टि के लिए पुलिस ने मंडावर थाने से संपर्क किया। इस पर पता चला कि 16 जनवरी 2021 को पुलिस को एक अधजला शव बरामद हुआ था। शिनाख्त न होने पर उसका अंतिम संस्कार 19 जनवरी को मंडावर पुलिस ने कर दिया। उनकी निशानदेही पर पुलिस टीम ने मृतक की स्कूटी भी बरामद कर ली।

ये हैं आरोपी
सुरेश चौधरी पुत्र स्व. मुंशी राम निवासी ग्राम गुरदासपुर, थाना स्योहारा, जिला बिजनौर, हाल निवासी सुमनविहार, बापूग्राम आईडीपीएल, ऋषिकेश। इन्द्रपाल सिंह उर्फ पप्पू, पुत्र जयपाल सिंह निवासी ग्राम गुरदासपुर, थाना स्योहारा, जिला बिजनौर हाल पता छाबरा फार्म, मंसा देवी श्यामपुर ऋषिकेश। परराजकुमार पुत्र स्व. बापूराम निवासी शक्तिनगर, चक्कर रोड, कोतवाली शहर जिला बिजनौ।

आरोपी सुरेश ने ये बताई कहानी
पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी सुरेश ने बताया गया कि राजकुमार गुप्ता ब्याज पर रुपये देने का काम करता था। दो साल पहले सुरेश ने उससे बेटी नेहा के विवाह के लिए छह लाख रुपये ब्याज पर लिए थे। वह किश्तों को लगातार दे रहा था। इसके बावजूद राजकुमार की ओर से और पैसों के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा था।

पत्नी पर रखता था गलत नजर
सुरेश के मुताबिक राजकुमार गुप्ता एक चरित्रहीन व्यक्ति था। वह उसकी पत्नी पर गलत निगाह रखता था। 02 जनवरी को वह अचानक घर पहुंचा तो देखा कि उसकी अनुपस्थिति में वह उसके घर पर है। इस पर उसने राजकुमार गुप्ता की हत्या करने का मन बना लिया था।

ऐसे बनाई योजना
हत्या को अंजाम देने के सुरेश ने अपने भतीजे पप्पू उर्फ इन्द्रपाल व अपने एक अन्य रिश्तेदार राजकुमार निवासी बिजनौर को अपनी योजना के बारे में अवगत कराते हुए उन्हें इसमें शामिल कर लिया। साथ ही हत्या में सहयोग के लिए दोनो को एक-एक लाख रुपये देने की बात भी की। इस पर दोनो राजी हो गए और घटना वाले दिन 15 जनवरी को जब रोज की तरह राजकुमार गुप्ता अपनी स्कूटी से बापूग्राम की तरफ आ रहा था तो सुरेश ने उसे रास्ते में रोका। उसने कहा कि उसके पैसे के साथ ही उसके लिए एक लड़की का इन्तजाम किया है।

यहां की हत्या
इसके लिए उसने राजकुमार को साथ चलने को कहा। वह भी तैयार हो गया। इसके बाद वह राजकुमार को उसकी स्कूटी में पीछे बैठाकर सोमेश्वर नगर होते हुए बायपास स्थित स्मृति वन के अन्दर जंगल में ले गया। जहां पर पहले से उसके साथी राजकुमार व इन्द्रपाल गाडी में मौजूद थे। हतीनों ने जंगल में रस्सी से गला घोंटकर राजकुमार गुप्ता की हत्या कर दी।

इसके अगले दिन शव को ठिकाने लगाने के लिए महेन्द्रा जायलो वाहन से ले गए। श्यामपुर फाटक के पास पुलिस की चेंकिंग से बचने के लिए उन्हें वाहन खैरी श्यामपुर के कच्चे रास्ते से होते हुए मंडावर बिजनौर ले जाना पडा। बिजनौर में इनामपुर रजवाहे के पास एक एकांत स्थान पर उन्होंने राजकुमार गुप्ता के शव को पैट्रोल डालकर जला दिया। इसके पश्चात तीनो वापस ऋषिकेश आ गए।

पुलिस टीम का नाम
रितेश शाह, प्रभारी निरीक्षक ऋषिकेश, ओमकान्त भूषण, वउनि ऋषिकेश,उप निरीक्षक सतेन्द्र भाटी, कांस्टेबल नवनीत सिंह , कांस्टेबल मनोज कुमार, कांस्टेबल प्रवीण संधु, कांस्टेबल सदीप छाबडी, कांस्टेबल नीरज।

12 thoughts on “दुस्साहस: ऋषिकेश के एक व्यक्ति का अपहरण कर की हत्या, आरोपियों ने शव को यूपी के बिजनौर में जला डाला

  1. Do you have a spam issue on this blog; I also am a blogger, and I was wanting to know your situation; we have created some nice procedures and we are looking to swap techniques with others, please shoot me an email if interested.

  2. The very core of your writing while appearing reasonable initially, did not settle well with me after some time. Someplace within the paragraphs you actually were able to make me a believer but only for a short while. I nevertheless have a problem with your leaps in assumptions and one might do well to fill in those gaps. In the event you actually can accomplish that, I could surely end up being impressed.

  3. I actually wanted to post a small note to be able to say thanks to you for all the pleasant solutions you are placing on this site. My time-consuming internet research has at the end been compensated with pleasant tips to share with my friends and family. I ‘d repeat that we readers actually are undoubtedly endowed to dwell in a fine site with many outstanding professionals with valuable hints. I feel really lucky to have seen your weblog and look forward to really more pleasurable minutes reading here. Thank you again for a lot of things.

  4. Today, I went to the beachfront with my kids. I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She put the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear. She never wants to go back! LoL I know this is entirely off topic but I had to tell someone!

  5. Very good blog! Do you have any recommendations for aspiring writers? I’m hoping to start my own website soon but I’m a little lost on everything. Would you advise starting with a free platform like WordPress or go for a paid option? There are so many options out there that I’m totally overwhelmed .. Any suggestions? Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published.