चमोली आपदा: हाईटेक सेसिंग डिवाइस से टनल का हवाई सर्वे फेल, अब तक 35 शव बरामद

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें

चमोली/देहरादून। उत्तराखंड के चमोली जिले में आई भीषण आपदा के बाद प्रभावित क्षेत्र तपोवन जल विद्युत परियोजना की टनल में अभी तक भी 30 से 35 लोग फंसे हैं। रेस्क्यू करने में संकटमोचक एसडीआरएफ सहित तमाम राहत दल युद्ध स्तर पर जुटे हैं।

वहीं मंगलवार को हैदराबाद स्थित केंद्रीय उरकफ (काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च) ने यह दावा किया था कि वह टनल के अंदर की स्थिति हाईटेक सेंसिंग डिवाइस से हवाई सर्वे कर पता कर सकती है, लेकिन वो इसमें कामयाब नहीं हो सके और उरकफ टीम काफी प्रयास के बाद वापस लौट गई।

हालांकि इसके बावजूद एसडीआरएफ सहित अन्य दल टनल में फंसे लोगों को रेस्क्यू करने के लिए दिन रात युद्ध स्तर पर जुटे हैं। उधर, उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय ने चमोली आपदा में अभी तक 174 लोगों के लापता होने की आधिकारिक सूचना दी है।

अभी तक 35 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। बरामद शवों में से 8 लोगों की पहचान हो गई है। वहीं आपदा से जुड़ी हर अपडेट व रेस्क्यू सहित अन्य जानकारी के लिए उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक के प्रवक्ता डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने 7500016666 नम्बर जारी किया है।

8 thoughts on “चमोली आपदा: हाईटेक सेसिंग डिवाइस से टनल का हवाई सर्वे फेल, अब तक 35 शव बरामद

  1. Hi, Neat post. There’s an issue along with your web site in web explorer, could check this… IE still is the marketplace leader and a huge portion of other folks will omit your great writing due to this problem.

  2. A lot of the things you point out happens to be astonishingly precise and that makes me wonder why I had not looked at this in this light previously. This particular piece really did turn the light on for me personally as far as this subject matter goes. Nonetheless at this time there is actually one particular position I am not necessarily too cozy with and while I make an effort to reconcile that with the core idea of your issue, allow me observe what the rest of the readers have to say.Nicely done.

  3. Having read this I thought it was very informative. I appreciate you taking the time and effort to put this article together. I once again find myself spending way to much time both reading and commenting. But so what, it was still worth it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.