कोरोना रिकवरी में देहरादून और नैनीताल सबसे आगे, पौड़ी, चमोली, अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ में सर्वाधिक संक्रमण

उत्तराखंड कोरोना वायरस
खबर शेयर करें

देहरादून। कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार कम होने के बाद अब देहरादून, हरिद्वार, बागेश्वर, चंपावत व ऊधमसिंहनगर जनपदों को कोविड कर्फ्यू में रियायत मिल सकती है। प्रदेश सरकार, ऐसे जिले जिनमें संक्रमण कम हो रहा है, उन्हें धीरे-धीरे अनलॉक करने की तैयारी में है।

दरअसल, अब तक कोरोना की सबसे ज्यादा मार झेल रहे देहरादून, हरिद्वार और यूएसनगर जिलों में हाल के दिनों में संक्रमण में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। एक्टिव दर घटने के साथ इन जिलों में रिकवरी दर तेजी से बढ़ी है।

हरिद्वार की संक्रमण दर सबसे कम 2.91% रही है, जबकि चार पर्वतीय जनपदों में संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा। यहां संक्रमण दर अब भी 10% के ऊपर है। ऐसे में इन जिलों को कुछ और समय कोविड कफ्र्यू की बंदिशें झेलनी पड़ सकता हैं।

प्रदेश में मई में एक पखवाड़े के भीतर जहां 80 हजार से ज्यादा सक्रमित मामले थे, वो अब 27 हजार रह गए हैं। सक्रिय मामले कम होते देख सरकार संबंधित जिलों को राहत देने पर विचार कर रही है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत कह भी चुके हैं कि कम संक्रमण वाले जिलों को कर्फ्यू में छूट दी जाएगी। शासन द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 24 मई से 30 मई के बीच संक्रमण दर हरिद्वार में 2.91%, बागेश्वर में 3.99%, चंपावत में 4.78%, यूएसनगर में 5.13% और देहरादून में 5.35% रही। रिकवरी के मामले में बेहतर प्रदर्शन वाले इन जिलों को सरकार कफ्र्यू में ढील दे सकती है।

इसके अलावा उत्तरकाशी में संक्रमण दर 5.83%, रुद्रप्रयाग में 8.36%, टिहरी में 8.58%, नैनीताल में 8.75% है। अन्य जिलों में संक्रमण का यह आंकड़ा पौड़ी में 10.54%, अल्मोड़ा में 10.33%, पिथौरागढ़ में 10.26% व चमोली में 10.19% है, जो छूट देने के लिए केंद्र सरकार की गाइडलाइन से अधिक है।

पहाड़ी ज़िलों में सबसे ज्यादा संक्रमण 

राज्य में मैदान की अपेक्षा पर्वतीय जिलों में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है। चार सबसे अधिक संक्रमण दर वाले जिले पहाड़ी ही हैं। पूर्व तक कोरोना के हाटस्पॉट बने मैदानी जिलों में अब कोरोना अधिक घातक साबित नहीं हो रहा है।

रिकवरी में देहरादून सबसे आगे

कोरोना से रिकवरी के मामले में देहरादून(93.9%) सबसे आगे है। दूसरे नंबर पर नैनीताल (93.2%) है। इस तालिका में पिथौरागढ़ और चमोली 79.4% की दर के साथ संयुक्त तौर पर सबसे निचले पायदान पर लगे

पिथौरागढ़ में लगातार बढ़ रही संक्रमण संख्या

पिथौरागढ़ में संक्रमण दर घटने के बजाय तेजी से बढ़ रही है। 25 मई को जिले में संक्रमण दर 18.6 फीसदी थी, जो अब बढ़कर 19.2 प्रतिशत हो चुकी है। हालांकि पौड़ी, बागेश्वर और चमोली में संक्रमण दर में गिरावट आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.