कोरोना ने छीनी उत्तराखंड के दो और इंजीनियरों की जिंदगी

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल कोरोना वायरस
खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड को लगता है कि किसी की नजर लग गई है। बेकाबू होता कोरोना रोजाना दर्जनों जान ले रहा है। प्रदेश के अभियन्ता अभी तक अपने लगभग दर्जन भर सहयोगियों को खो चुके हैं। इसके बाद भी एक और बुरी खबर आई है कि दो अभियंताओं की कल भी कोरोना ने जान ली है।

मिली जानकारी के अनुसार लोक निर्माण विभाग हरिद्वार में कार्यरत सहायक अभियंता अरुण केसरवानी को कोरोना ने अपने आगोश में लिया है। वह हरिद्वार स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती थे। लेकिन वह आखिर में कोरोना से लड़ते-झगड़ते जीवन कुंग खो गया।

इसके अलावा ऊर्जा निगम के विद्युत वितरण खण्ड (नगर) हल्द्वानी में कार्यरत प्रभारी अवर अभियंता सतेंद्र सिंह नेगी भी कोरोना के नेतृत्व में मौत के मुंह मे समा गए। दैनिकानालाइन वर्कर की मौत से पूरे प्रदेश में शोक की लहर है।

बता दें कि बीते रोज ही उत्तराखंड पेयजल निगम निर्माण इकाई श्रीनगर गढ़वाल में कार्यरत अधिशासी अभियंता प्रदीप कुमार अग्रवाल की जिंदगी भी कोरोना ने छीन ली थी। उन्होंने एम्स ऋषिकेश में अंतिम सांस ली है। पेयजल निगम निर्माण इकाई श्रीनगर में परियोजना प्रबन्धक के पद पर कार्यरत होने वाले मृतक पीके अग्रवाल का इसी महीने 31 मई को रिटायरमेंट था। लेकिन भगवान को शायद कुछ और ही मंजूर था।

कार्यक्रम देखें तो सबसे पहले कोरोना ने पेयजल निगम के प्रबंध निदेशक वीसी पुरोहित की जान ली। इसके बाद सिलसिला जारी किया गया। इसके बाद ये वाक्यांश कोरोना ने ऊर्जा निगम ऋषिकेश के अधिशासी अभियंता डीके सिंह, रुद्रपुर के एसडीओ विनोद कुमार के बाद उत्तराखंड जल संस्थान के अधिशासी अभियंता अशोक कुमार की जिंदगी भी छीन ली।

दो दिन पहले ही सिचाई विभाग के अधिशासी अभियंता सुबोध मैथानी सहित दो और अभियंता कोरोना से लेकर हारने वाले थे। इनमें पीडब्लूडी मुख्य अभियंता कार्यालय देहरादून में कार्यरत सहायक अभियंता भास्कर त्रिपाठी और पेयजल निगम कोटद्वार के अपर सहायक अभियंता मोहम्मद अरशद खान शामिल है। लगातार साथियों की मौत से प्रदेश के अभियन्ता स्तब्ध हैं।

19 thoughts on “कोरोना ने छीनी उत्तराखंड के दो और इंजीनियरों की जिंदगी

  1. Perfectly indited content material, appreciate it for information. “The last time I saw him he was walking down Lover’s Lane holding his own hand.” by Fred Allen.

  2. Attractive component of content. I simply stumbled upon your web site and in accession capital to assert that I get in fact loved account your blog posts. Anyway I’ll be subscribing to your feeds and even I achievement you get admission to constantly fast.

  3. I am really enjoying the theme/design of your web site. Do you ever run into any web browser compatibility issues? A handful of my blog readers have complained about my website not operating correctly in Explorer but looks great in Firefox. Do you have any ideas to help fix this issue?

  4. An impressive share, I just given this onto a colleague who was doing a little analysis on this. And he in fact bought me breakfast because I found it for him.. smile. So let me reword that: Thnx for the treat! But yeah Thnkx for spending the time to discuss this, I feel strongly about it and love reading more on this topic. If possible, as you become expertise, would you mind updating your blog with more details? It is highly helpful for me. Big thumb up for this blog post!

  5. Today, I went to the beach front with my children. I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She put the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear. She never wants to go back! LoL I know this is entirely off topic but I had to tell someone!

  6. Magnificent items from you, man. I’ve consider your stuff prior to and you’re just extremely wonderful. I actually like what you’ve obtained right here, really like what you are saying and the way through which you say it. You are making it entertaining and you still care for to keep it sensible. I can’t wait to read far more from you. That is really a tremendous website.

Leave a Reply

Your email address will not be published.