कृषि कानून के विरोध में किसानों का राजभवन कूच, प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई तीखी झड़प

उत्तराखंड
खबर शेयर करें

देहरादून। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर संयुक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में राजभवन कूच किया। हालांकि प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने न्यू कैंट रोड स्थित हाथीबड़कला चौकी के पास बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारी वहीं सड़क में बैठ गए और वहां एक सभा का आयोजन किया।

इससे पहले किसान मोर्चा के आह्वान पर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए प्रदर्शनकारी गांधी पार्क के सामने एकत्रित हुए। उसके बाद पैदल मार्च निकालते हुए दिलाराम चौक से होते हुए जब न्यू कैंट रोड पहुंचे, तो पुलिस में ने प्रदर्शनकारियों को वहीं रोक दिया। प्रदर्शनकारियों ने जिला प्रशासन के माध्यम से तीनों कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने को लेकर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी प्रेषित किया है।

किसानों की बढ़ सकती है मुश्किलें

हर्रावाला हाईवे पर किसानों का उग्र रूप देख पुलिस ने कड़ी चेतावनी दी है। देहरादून पुलिस ने किसानों को मुकदमा दर्ज कर सख्ती करने की चेतावनी दी है। इसके साथ ही पुलिस ने कहा है कि जिस भी किसान के ऊपर अगर कानूनी कार्रवाई की गई तो उसके बाद उनके न तो लाइसेंस बन पाएंगे और न ही पासपोर्ट और नौकरी जैसे विषयों पर कोई आवेदन नहीं कर पायेगा।

ट्रक-ट्राली लेकर भी पहुंचे कई किसान

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का केंद्र सरकार के साथ टकराव जारी है। किसान लगातार कृषि कानून वापस लेने की मांग पर अड़े हैं। कई दौर की वार्ता के बाद भी किसान सरकार से सहमत नहीं हैं। इसी कड़ी में डोईवाला के करीब 300 किसानों ने ट्रैक्टर लेकर राजभवन कूच किया। इस दौरान किसानों का पुलिस के साथ टकराव भी हुआ।

पुलिस ने किसानों को डोईवाला फ्लाईओवर के नीचे रोकने की कोशिश की। बता दें, कृषि कानून के विरोध में डोईवाला के सैकड़ों किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर देहरादून राजभवन का घेराव करने के लिए निकले। डोईवाला के लच्छीवाला फ्लाईओवर और टोल टैक्स बैरियर पर भारी संख्या में पुलिस बल और पीएससी ने किसानों को रोकने की कोशिश की।

लच्छीवाला टोल प्लाजा बैरियर पर किसानों और पुलिस के बीच भारी टकराव देखने को मिला। पुलिस ने बैरिकेडिंग और गाड़ियां लगाकर ट्रैक्टरों को रोकने की कोशिश की, लेकिन किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़कर और डिवाइडर हटाकर देहरादून के लिए कूच किया। किसानों का कहना है कि जब तक तीनों काले कानून वापस नहीं होंगे, किसान चुप नहीं बैठेंगे।

इसको लेकर किसान देहरादून के लिए निकल पड़े हैं, जो राजभवन का घेराव करने निकले। जानकारी मिली है कि किसानों को हर्रावाला के नजदीक भी रोकने की कोशिश
की गई। पुलिस और किसानों के बीच भारी टकराव देखने को मिला।

29 thoughts on “कृषि कानून के विरोध में किसानों का राजभवन कूच, प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई तीखी झड़प

Leave a Reply

Your email address will not be published.