कुम्भ मेले की गाइडलाइन जारी, कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बगैर नहीं मिलेगा प्रवेश, रजिस्ट्रेशन भी अनिवार्य

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें

हरिद्वार। हरिद्वार में आयोजित होने वाले कुंभ को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने विशेष गाइडलाइन (एसओपी) जारी की है। इस गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना टेस्ट की ताजा निगेटिव रिपोर्ट के बगैर किसी भी व्यक्ति को कुंभ मेला क्षेत्र में प्रवेश नहीं मिलेगा। इस नियम का सख्ती से पालन किया जाएगा। इतना ही नहीं कुंभ में प्रवेश के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता होगी।

कुंभ में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं और संत-साधुओं के आगमन की संभावना को देखते हुए आध्यात्मिक राजधानी हरिद्वार को तैयार किया जा रहा है। हालांकि ये भी सच है कि कोरोना का खतरा अभी सिर से टला नहीं है।

हरिद्वार कुंभ को होर्डिंग्स में ईश्वरीय निमंत्रण बताया जा रहा है, लेकिन महामारी के बीच इतना बड़े धार्मिक आयोजन को उत्तराखंड सरकार और स्थानीय प्रशासन किसी चुनौती से कम नहीं मान रहा है। कुंभ सुरक्षित हो इसके लिए राज्य सरकार के आग्रह पर केंद्र सरकार ने एसओपी जारी की है।

कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने बताया कि एसओपी के मुताबिक किसी भी व्यक्ति को कुंभ क्षेत्र में प्रवेश के लिए पिछले 72 घंटों के भीतर की नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट की अनिवार्यता होगी। उन्होंने बताया कि कुंभ क्षेत्र में प्रवेश के लिए एंट्री गेट बनाए जाएंगे। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट वाले व्यक्तियों को ही प्रवेश दिया जाएगा।

बताते चलें कि हरिद्वार कुम्भ मेले में चार शाही स्नान होंगे। ये सिलसिला महाशिवरात्रि 11 मार्च 2021 से शुरू होकर चैत्र अमावस्या यानी 12 अप्रैल, सोमवती अमावस्या तक चलेगा। तीसरा शाही स्नान 14 अप्रैल को मेष संक्रांति पर होगा और चौथा शाही कुम्भ स्नान बैशाखी पर 27 अप्रैल को होगा। इनके अलावा पर्व स्नान भी होंगे। माघ पूर्णिमा 27 फरवरी से पूर्व कुंभ की अधिसूचना जारी होने की संभावना है।

12 thoughts on “कुम्भ मेले की गाइडलाइन जारी, कोरोना निगेटिव रिपोर्ट के बगैर नहीं मिलेगा प्रवेश, रजिस्ट्रेशन भी अनिवार्य

  1. I’m impressed, I must say. Actually rarely do I encounter a weblog that’s each educative and entertaining, and let me tell you, you’ve gotten hit the nail on the head. Your concept is outstanding; the issue is something that not enough persons are speaking intelligently about. I am very joyful that I stumbled across this in my search for one thing referring to this.

Leave a Reply

Your email address will not be published.