ऊर्जा निगम में बिजली घपले में जीएम समेत छह अधिकारी सस्पेंड

उत्तराखंड राजकाज
खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड पॉवर कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल) में शासन ने बड़ी कार्रवाई की है। करीब 56 करोड़ रुपये के सरप्लस बिजली खरीद घोटाले में जीएम समेत 6 अधिकारियों को सस्पेंड किया है। जबकि 12 अधिकारियों को चार्जशीट जारी की गई है। इसके अलावा एक मुख्य अभियंता और एक महाप्रबंधक को कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

बता दे कि ऊर्जा निगम में सरप्लस बिजली बेचने का ठेका क्रिएटिव कम्पनी को दिया गया था। कम्पनी ने करीब 56 करोड़ रुपये की बिजली बेची। लेकिन समय पर ऊर्जा निगम को भुगतान नहीं किया। लम्बे समय से भुगतान देरी से होता आ रहा है।

वर्तमान ने कम्पनी पर 56 करोड़ के बकाया भुगतान पर लगभग 16 करोड़ रुपये लेट पेमेंट सरचार्ज भी लग गया। जिसके बाद बकाये की रकम 72 करोड़ रुपये से अधिक पहुंच गई। इसमे से अभी तक कम्पनी ने सिर्फ 18 करोड़ रुपये ही जमा कराए हैं।

54 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान अभी कम्पनी पर लम्बित है। कम्पनी पर भुगतान मामले में मेहरबानी दिखाने वाले अधिकारियों के खिलाफ शासन ने पहली बार सख्त कदम उठाए हैं। इसके अलावा मुख्य अभियंता एके सिंह, गणेश सिंह और महाप्रबंधक अनिल मित्तल को कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

रौंथाण समिति की रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई

सरप्लस बिजली बकाया घपले की पोल रौंथाण समिति ने खोली। निदेशक परियोजना जगमोहन सिंह रौंथाण की अध्यक्षता में जांच समिति का गठन किया गया था। समिति की रिपोर्ट पर सचिव राधिका झा ने यह कार्रवाई की है। रौंथाण ऊर्जा निगम में ईमानदार अफसरों में गिने जाते है। उनकी रिपोर्ट पर शासन ने सीधे तौर पर जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई की है।

वित्त से जुड़े अधिकारियों की भी होगी जांच

56 करोड़ के बिजली बेचने के मामले में वित्त से जुड़े अधिकारियों पर अब कार्रवाई की तलवार लटक गई है। सचिव ऊर्जा राधिका झा ने ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. नीरज खैरवाल को इस मामले में वित्त से जुड़े अधिकारियों की भूमिका की भी जांच के निर्देश दिए हैं।

डिफाल्टर होने के बाद भी कम्पनी से दोबारा करार किया जाना भी सवालों के घेरे में है। इसकी भी जांच की जाएगी और इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भी काफी कार्रवाई की जाएगी।

ये हुए निलंबित

  • प्रभारी महाप्रबंधक वित्त मोहम्मद इकबाल
  • अधीक्षण अभियंता बृजमोहन सिंह एवं सुनील वैद्य
  • अधिशासी अभियंता अर्जुन प्रताप
  • वरिष्ठ लेखाधिकारी राकेश कुमार
  • सहायक लेखाधिकारी अवनीश

सस्पेंड हुए सभी 6 अधिकारियों समेत इनको दी गई चार्जशीट

  • मुख्य अभियंता एसके टम्टा
  • मुख्य अभियंता रजनीश अग्रवाल
  • अधिशासी अभियंताआ प्रवेश कुमार
  • लेखाधिकारी एसके मेहता
  • सहायक अभियंता मनीष पांडे
  • लेखाकार होशियार सिंह

1 thought on “ऊर्जा निगम में बिजली घपले में जीएम समेत छह अधिकारी सस्पेंड

  1. Thank you for sharing excellent informations. Your web site is very cool. I’m impressed by the details that you have on this web site. It reveals how nicely you perceive this subject. Bookmarked this web page, will come back for extra articles. You, my friend, ROCK! I found simply the info I already searched everywhere and just could not come across. What a perfect web site.

Leave a Reply

Your email address will not be published.