उत्तराखण्ड में भी श्रद्धालू बर्फबारी के बीच कर रहे ‘बाबा बर्फानी’ के दर्शन, पढ़े, कहां स्थित है यह दिव्य जगह

उत्तराखंड समाज-संस्कृति
खबर शेयर करें

चमोली गढ़वाल। बाबा अमरनाथ यात्रा की तर्ज पर तीर्थयात्री अब उत्तराखंड के सीमंत जनपद चमोली की नीति घाटी में स्थित तम्मरसांन महादेव की यात्रा कर रहे हैं। बीते 7 अप्रैल को विधिवत रूप से टिम्मरसांन महादेव की यात्रा शुरू हुई थी। जिसके बाद से बर्फबारी के बीच स्थानीय लोग टिम्मरसांन महादेव के दर्शन कर रहे हैं।

सीमांत जनपद चमोली के जोशीमठ ब्लॉक की नीति घाटी के अंतिम गांव से लगभग एक किमी पहले टिम्मरसैंण में पहाड़ी पर स्थित गुफा के अंदर एक शिवलिंग विराजमान हैं।

इस पर पहाड़ी से टपकने वाले जल से हमेशा अभिषेक होता रहता है। इसी शिवलिंग के पास बर्फ पिघलने के दौरान प्रतिवर्ष बर्फ शिवलिंग का आकार लेता है। जिसे बर्फानी बाबा या तम्मरसांन महादेव के नाम से जाना जाता है।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा, ” उत्तराखंड के सीमंत जनपद चमोली की नीति घाटी स्थित टिम्मरसैंण में बाबा बर्फानी एक स्वयंभू शिवलिंग के रूप में विराजमान है। हर साल शीतकाल में बर्फ से 10 फीट से ऊंचा शिवलिंग बनता है।

इस स्थान पर भगवान शिव ने अपनी कैलाश यात्रा के दौरान रात्रि विश्राम किया था। इसलिए यह स्थान सौसा महादेव के नाम से विख्यात है। अब श्रद्धालुओं को प्रतिबंधित क्षेत्र नीति घाटी जाने के लिए अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी।

जिससे अब भक्तजन आसानी से टिम्मरसैंण महादेव की यात्रा कर भगवान शिव के दर्शन कर सकते हैं। यात्रा 7 से 30 अप्रैल तक जारी रहेगी। भगवान शिव की आस्था के प्रतीक बाबा बर्फानी के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं का प्रदेश सरकार स्वागत करती है। ”

जिला पर्यटन अधिकारी बिजेंद्र पांडेय ने बताया कि प्रशासन की ओर से जारी कोरोना गाइडलान के तहत ही यात्रा का आयोजन किया जा रहा है।) उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं को सुराईथोटा चैकपोस्ट पर पंजीकरण कराने के बाद यात्रा के लिए भेजा जा रहा है।

बर्फबारी के दौरान दो दिन में स्थानीय लोगों ने ही बाबा बर्फानी के दर्शन किए। देश-विदेश से आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए टिम्मरसांन यात्रा की सभी तैयारियों की गई हैं।

36 thoughts on “उत्तराखण्ड में भी श्रद्धालू बर्फबारी के बीच कर रहे ‘बाबा बर्फानी’ के दर्शन, पढ़े, कहां स्थित है यह दिव्य जगह

  1. investigated the benefits combination of nutlin 3 with cisplatin in sequential treatments cisplatin followed by nutlin 3 108 tamoxifen for gynecomastia Pharmaceutical compositions may comprise a therapeutically effective amount of one or more compounds of Formula 1, preferably in purified form, together with a suitable amount of a pharmaceutically acceptable vehicle, so as to provide a form for proper administration to a patient

  2. A hallmark feature of classical invasive lobular breast cancers is that the tumors grow in single file strands rather than the more common lump seen in invasive ductal breast cancers cialis online ordering In certain embodiments, R P16 is a t butyl carbonate BOC protecting group

  3. With havin so much written content do you ever run into any issues of plagorism or copyright violation? My site has a lot of exclusive content I’ve either created myself or outsourced but it appears a lot of it is popping it up all over the internet without my agreement. Do you know any techniques to help prevent content from being ripped off? I’d certainly appreciate it.

  4. hello!,I like your writing so much! proportion we keep up a correspondence more approximately your post on AOL? I need a specialist in this space to resolve my problem. May be that is you! Having a look forward to see you.

  5. Treatment depends on how mild or severe the condition is, which includes over the counter and prescription nonsteroidal anti inflammatory drugs NSAIDs, corticosteroid injections, disease modifying antirheumatic drugs DMARDs topical treatments, and immunosuppressants generic cialis from india Our prayers and thoughts to the Family

  6. propecia for sale B, Representative flow cytometric plots of CD4 and CD8 expression left and mean number plus 1 SEM of CD4 and CD8 T cells right in the spleens of female HY TCR Tg mice rasa1 fl fl, n 8; rasa1 fl fl plck cre, n 9

Leave a Reply

Your email address will not be published.