उत्तराखंड में 1 मई तक सभी सरकारी और गैर सरकारी दफ्तर रहेंगे बंद, लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश

कर्मचारी हलचल कोरोना वायरस राजकाज
खबर शेयर करें

उत्तराखंड में कोरोना का सक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है ।संबंधों की संख्या बढ़ने के साथ ही मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है।] यह देखता है कि राज्य सरकार ने सभी सरकारी भवनों को 29 और 30 अप्रैल और 1 मई को बंद रखने के निर्देश दिए हैं।

काबिलेगौर है कि अभी तक 28 अप्रैल तक सरकारी भवनों को को बंद करने के निर्देश थे। केवल आवश्यक सेवाओं से संबंधित विभाग ही खोले जा रहे थे।

बुधवार को सचिव पंकज कुमार पांडे की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। इस दौरान दफ्तर बंद रहने के साथ कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

12 thoughts on “उत्तराखंड में 1 मई तक सभी सरकारी और गैर सरकारी दफ्तर रहेंगे बंद, लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश

  1. I needed to create you a very little remark in order to thank you the moment again about the amazing methods you have contributed here. It has been so wonderfully generous of people like you to grant easily all that a lot of people would’ve offered for sale for an e-book to end up making some dough for their own end, mostly seeing that you might have done it if you wanted. Those solutions also served like a fantastic way to understand that other people have the identical keenness similar to my personal own to see great deal more in terms of this problem. I believe there are a lot more pleasurable times ahead for individuals that look over your blog post.

  2. Thank you a lot for providing individuals with such a splendid chance to read in detail from this website. It is always so pleasant plus packed with a great time for me and my office co-workers to visit your web site particularly three times per week to read the newest guides you will have. And lastly, I’m just usually fulfilled considering the perfect methods you serve. Certain 3 tips in this posting are undoubtedly the finest we have all had.

Leave a Reply

Your email address will not be published.