उत्तराखंड में 1 जून से चलेगा ‘मेरा गांव मेरा बूथ कोरोना मुक्त अभियान’, इन्हें मिली जिम्मेदारी

उत्तराखंड कोरोना वायरस देश-दुनिया राजनीति
खबर शेयर करें

– ज़िला स्तर पर कर्यकर्ताओ का प्रशिक्षण और अध्ययन जरुरी: संतोष

– फ्रंटलाईन कोरोना वारियर की सूची बनाकर सम्मान के निर्देश

देहरादून। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संग़ठन बीएल सन्तोष ने दो दिवसीय उत्तराखंड प्रवास के दौरान वृहस्पतिवार को सातों मोर्चों की बैठक सहित कोर ग्रुप की बैठक में पार्टी द्वारा राज्य में कोविड के के खिलाफ चलाये जा रहे सेवा ही संगठन के तहत कार्यो का फीड बैक लिया।

प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने बैठक के बाद जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय महामंत्री ने जिला स्तर पर कार्यकर्ताओ के प्रशिक्षण और अध्ययन पर बल दिया।

उन्होंने कहा कि किसान मोर्चा अध्ययन के जरिये सरकार को अपने सुझाव दे सकता है और सरकार भौगोलिक परिस्थितियो के अनुरूप प्राप्त सुझावो पर अमल कर सकती है।साथ ही सभी मोर्चा अध्यक्षों को बूथ स्तर तक संवाद बढ़ाने को कहा।

बैठक में सभी मोर्चा अध्यक्षों को सेवा कार्यों के अलग अलग लक्ष्य दिए गए जिसमें युवा मोर्चा को 2000 ब्लड यूनिट, अन्य 6 मोर्चों को 2000 ब्लड यूनिट का लक्ष्य दिया गया।

युवा मोर्चा को 1जून से 12 जून तक प्रदेश भर में मेरा गाँव कोरोना मुक्त ,मेरा बूथ कोरोना मुक्त अभियान चलाने के लिए को कहा गया। सभी मोर्चो को अपने बूथ स्तर तक व मंडल स्तर पर सभी से बिना काम के भी सेवा भाव से निरंतर संवाद करने के लिए कहा।

कोरोना योद्धाओं का करेंगे सम्मान

युवा मोर्चा को डॉक्टर , नर्सेज और कोरोना वीरों के साथ अब लैब टेक्नीशियन से लेकर शमशान घाट में शव दाह करने वाले फ्रंट लाइन वारियर की सूची तैयार कर उनका सम्मान कोरोना वीरों के रूप में करने के लिए कहा।

ऐसे लोगों को भी आगे लाने की जरुरत पर बल दिया जो कि इस समय अधिक सक्रियता से अपनी भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं, लेकिन वह अग्रिम कतार में नहीं दिखते।

प्रवासियों को घर पर मिले काम

टोली बैठक में उन्होंने कहा कि कोरोना काल में घर आए प्रवासियो को किस तरह से रोका जाए उनके लिए गंभीरता से योजना बनाए जाने की जरुरत है।

यह भी तय किया गया कि कोरोना की समाप्ति तक भाजपा संगठन के द्वारा चलाये जा रहे सेवा कार्य जारी रहेंगे। कोर ग्रुप की बैठक में कोविड को नियंत्रित करने को लेकर किए जा रहे प्रयासो पर चर्चा की गई।

वहीं लोगों को अधिक से अधिक राहत देने और संसाधनो में और बृद्धि पर जोर दिया गया। कोविड की तीसरी लहर से किस तरह सामना किया जाएगा इसे लेकर तैयारियो पर भी विचार किया गया।

गांव में सेवा अभियान 30 मई से 

प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने बताया कि 30 मई को गांव में सेवा अभियान को लेकर प्रदेश महामंत्री शुरेश भट्ट को प्रभारी बनाया गया है। कल तक वह सभी सांसदों,विधायको और पदाधिकारियो के बारे में स्पष्ट करेंगे कि कौन प्रतिनिधि किस गांव में जाएगा।

सेवा अभियान में कोरोना गाइड लाइन के तहत मंत्री और मुख्यमंत्री भाग नहीं लेंगे। मंन्त्री व मुख्यमंत्री को वर्चुअल माध्यम से दो दो गावों में सेवा कार्य में भाग लेना सुनिश्चित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.