उत्तराखंड में बारिश ने मचाया कहर, पिथौरागढ़ में भारी बारिश से कई मकान ध्वस्त, 7 लोग लापता, दो के शव बरामद, रेसक्यू कार्य जारी

उत्तराखंड मौसम/आपदा
खबर शेयर करें

 

देहरादून/पिथौरागढ़। पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश से उत्तराखंड में जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। पहाड़ खिसकने से सड़कें जगह-जगह टूटने से यातायात प्रभावित हो रहा है। आवाजाही बाधित होने से रेसक्यू ऑपरेशन में भारी दिक्कतें हो रही हैं। पिथौरागढ़ में बीती रात्रि को बारिश ने जमकर कहर मचाया है। कई मकान जमीदोंज हो चुके हैं। 7 लोगों के लापता होने की सूचना है। बताया गया है कि इनमें से 2 लोगों के अभी-अभी शव मिल गए हैं, बाकी की तलाश जारी है।

पिथौरागढ़ जिला प्रशासन से प्राप्त प्रारंभिक सूचना के अनुसार गांव के जामुनी तोक में लगभग 5 और सिरौउड़यार तोक में 2 आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इसके साथ ही यहां से लगभग 7 व्यक्तियों के लापता होने की सूचना है। बताया गया है कि इनमें

सूचना के तत्काल बाद घटना क्षेत्र में राजस्व,एसएसबी, पुलिस, एसडीआरएफ तथा रेस्क्यू टीम रवाना हो गई है। एनडीआरएफ की टीम को भी प्रभावित क्षेत्र के लिए रवाना कर दिया गया है।

इधर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिलाधिकारी पिथौरागढ़ डॉ. आशीष चौहान से फोन पर बात कर गत रात्रि जनपद पिथौरागढ़ के तहसील धारचूला के ग्राम जुम्मा में भारी वर्षा से हुए नुकसान की जानकारी ली।

मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि प्रभावितों को तत्काल हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराई जाए। सर्च व रेस्क्यू आपरेशन पूरी क्षमता के साथ चलाए जाएं। घायलों का समुचित उपचार सुनिश्चित किया जाए।

इस संबंध में जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने जिला आपदा परिचालन केन्द्र में आईआरएस के अधिकारियों के साथ बैठक कर तत्काल मौके पर राहत एवं बचाव कार्य कराने के साथ ही क्षेत्र में राहत सामग्री भेजने के निर्देश दिए हैं।

बताया गया कि जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक भी घटना स्थल को रवाना हो गए हैं। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि क्षेत्र में सड़क मार्ग अवरुद्ध होने के कारण रेस्क्यू कार्य हैलीकॉप्टर से कराए जाने के लिए क्षेत्र में हैलीपैड तैयार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.