उत्तराखंड में फर्जी शिक्षकों की जांच एसआईटी से कराने की मांग

उत्तराखंड
खबर शेयर करें

नैनीताल। हाईकोर्ट ने प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नियुक्त लगभग 3500 शिक्षकों की जांच तीन हफ्ते में पूरी करने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने इस मामले में सख्ती बरतते हुए राज्य सरकार से तीन हफ्ते में रिपोर्ट तलब की है। अब इस प्रकरण में अगली सुनवाई 2 नवम्बर को होगी।

बता दें कि स्टूडेंट वेलफेयर सोसायटी ने शिक्षा विभाग में फर्जी शिक्षकों को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। मामले की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रवि कुमार मलिमथ और न्यायामूर्ति आरसी खुल्बे की खंडपीठ कर रही है।

शिक्षकों की फर्जी नियुक्ति के मामले में राज्य सरकार ने हाईकोर्ट में शपथ पत्र देकर फर्जी शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच में डेढ़ साल का समय लगने की बात कही। लेकिन खंडपीठ ने राज्य सरकार की अपील को ठुकरा दिया। कोर्ट ने सरकार को तीन हफ्ते में जांच पूरी करखे रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश दिए हैं।

उधर, सोसायटी ने हाईकोर्ट से इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने की मांग की है।

9 thoughts on “उत्तराखंड में फर्जी शिक्षकों की जांच एसआईटी से कराने की मांग

  1. Excellent site you have here but I was wanting to know if you knew of any user discussion forums that cover the same topics talked about here? I’d really love to be a part of community where I can get comments from other experienced individuals that share the same interest. If you have any suggestions, please let me know. Thanks a lot!

  2. I like what you guys are up too. Such intelligent work and reporting! Carry on the superb works guys I have incorporated you guys to my blogroll. I think it’ll improve the value of my website :).

Leave a Reply

Your email address will not be published.