उत्तराखंड में कोरोना विस्फोट : एक दिन में रिकॉर्ड 451 मामले, कुल आंकड़ा 5300 पहुंचा

देश-दुनिया
खबर शेयर करें

उत्तराखंड में बीते रोज (22 जुलाई) कोरोना वायरस संक्रमण के 451 नए मामले सामने आने से हालात बेहद चिंताजनक हो गए हैं। इसके साथ ही अब प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमित मामलों की संख्या 5300 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार 22 जुलाई शाम आठ बजे तक 3349 लोग पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं तथा 1856 लोगों का इलाज चल रहा है। प्रदेश में अब तक कोरोना से 57 लोगों की मौत हुई है।

सबसे ज्यादा 204 मामले हरिद्वार जिले में सामने आए। ऊधमसिंह नगर में 98, नैनीताल में 73, देहरादून में 43, टिहरी में 11, उत्तरकाशी में 9, पिथौरागढ़ में 5, तथा पौड़ी व अल्मोड़ा में 4-4 पॉजिटिव केस मिले। 22 जुलाई के बुलेटिन के मुताबिक प्रदेश में कुल 52 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे। देहरादून जिले से 22, उधम सिंह नगर जिले से 19, हरिद्वार जिले से 7 और चमोली और चंपावत जिले से 2-2 लोग स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हुए।

प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा 1221 मामले देहरादून जिले में आए हैं। दूसरे स्थान पर हरिद्वार- 981
और तीसरे स्थान पर उधमसिंहनगर– 861 है। इसके बाद नैनीताल – 788, टिहरी 488, अल्मोड़ा 224, पौड़ी 190, उत्तरकाशी 142, बागेश्वर 95, पिथौरागढ़ 85, चमोली 82, चंपावत 76 और रुद्रप्रयाग- 67 हैं।

15 thoughts on “उत्तराखंड में कोरोना विस्फोट : एक दिन में रिकॉर्ड 451 मामले, कुल आंकड़ा 5300 पहुंचा

  1. Heya i’m for the primary time here. I found this board and I find It really helpful & it helped me out a lot. I’m hoping to give one thing back and aid others like you aided me.

  2. There are some interesting time limits in this article however I don’t know if I see all of them heart to heart. There is some validity however I will take maintain opinion till I look into it further. Good article , thanks and we want more! Added to FeedBurner as nicely

  3. The crux of your writing whilst sounding reasonable originally, did not really settle very well with me personally after some time. Somewhere throughout the sentences you managed to make me a believer but just for a short while. I still have a problem with your leaps in assumptions and one would do well to help fill in those breaks. In the event you can accomplish that, I could undoubtedly be impressed.

Leave a Reply

Your email address will not be published.