उत्तराखंड में आफत की बारिश, रानीपोखरी में हाईवे पर पुल टूटा, देहरादून-मसूरी और ऋषिकेश-चंबा हाईवे भी कई जगह क्षतिग्रस्त, हजारों लोग फंसे

उत्तराखंड मौसम/आपदा
खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड में गुरुवार की रात आफत की बारिश ने जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित कर दिया। बारिश से देहरादून-ऋषिकेश को जोड़ने वाला रानी पोखरी पुल जाखन नदी की चपेट में आने से धराशायी हो गया। इसके अलावा ऋषिकेश-चंबा मार्ग फकोट के पास कई मीटर साफ हो गया। जबकि ऋषिकेश बदरीनाथ हाईवे भी कई जगह मलबा और बोल्डर आने से बंद हो गया। बीआरओ और लोक निर्माण विभाग मार्ग खोलने में जुटी है।

राज्य में लगातार हो रही बारिश आपदा का रूप ले रही है। बारिश से देहरादून के कई इलाके जलमग्न हो गए हैं। सहस्रधारा, ख़ैरिमान सिंह वाला, मालदेवता इलाके में भारी नुकसान हुआ है। यहां भारी मलबा और पानी लोगों के घरों में घुस आया है। इसके अलावा सबसे बड़ा नुकसान देहरादून और ऋषिकेश को जोड़ने वाले रानीपोखरी पुल को हुआ है। यहां जाखन नदी का जलस्तर बढ़ने से रानीपोखरी पुल बीच से टूट गया है।

इस दौरान पुल पर चल रही गाड़ियां भी नदी में समा गई है। पुल टूटने से मार्ग डायवर्ट कर दिया है। वाहनों को थानों मार्ग और नेपाली फार्म से आवाजाही कराई जा रही है। इससे लोग बुरी तरह फंस गए हैं। इसके अलावा बारिश ने ऋषिकेश-चंबा-गंगोत्री हाईवे को भारी नुकसान पहुंचाया है। यहां फकोट में बारिश ने हाईवे को कई मीटर काट दिया है।

इससे आवाजाही पूरी तरह से थम गई है। लोगों को चंबा से धनोल्टी होते हुए देहरादून आवाजाही कराई जा रही है। मार्ग पर 50 से ज्यादा गाँव के लोग मुसीबत में फंस गए हैं। इससे टिहरी, उत्तरकाशी की जरूरी सेवाएं ठप हो गई है।

कुछ सेवाएं वायाया देहरादून-सुवाखोली-धनोल्टी होते हुए शुरू की गई। लेकिन मसूरी क्षेत्र में भी कई जगह पर सड़क पर मलबा आ रहा है। एक जगह पर भूस्खलन के चलते पहाड़ से लगातार पत्थर आ रहे हैं, जिससे कई किलोमीटर जाम लगा हुआ है।

इधर, सरकार ने एसडीआरएफ समेत अन्य एजेंसियों को राहत एवं बचाव कार्य मे जुटने के निर्देश दिए हैं। पुलिस और एसडीआरएफ को समन्वय बनाते हुए कार्य करने के निर्देश दिए गए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.