उत्तराखंड: जीएमवीएन-केएमवीएन के एकीकरण को कार्मिक आर-पार के संघर्ष को तैयार, घाटे को दूर करने को मांगे 50-50 करोड़

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल
खबर शेयर करें

देहरादून।  गढ़वाल मंडल और कुमाऊँ मंडल विकास निगम कर्मचारी महासंघ का आंदोलन जारी है। महासंघ दोनों निगमों का एकीकरण कर पर्यटन विकास परिषद में शामिल करने की मांग कर रहा है। साथ ही कोरोना काल और पहले से चल रहे घाटे से उभारने को दोनों निगमों को 50-50 करोड़ दिए जाने की मांग सरकार से की है। कहा कि जल्द महासंघ की 13 सूत्रीय मांग पर कार्रवाई न हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

बता दें कि दोनों निगमों से जुड़ा महासंघ पिछली 26 तारीख से धरना प्रदर्शन कर रहा है। आज जिला देहरादून की सभी इकाइयों में प्रातः 11 से दोपहर 1 बजे तक 2 घंटे का कार्य बहिष्कार कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर कर्मचारियों ने सरकार पर निगमों की अनदेखी का आरोप लगाते हुए मांगों का जल्द से जल्द निराकरण करने हेतु अपना 13 सूत्रीय मांग पत्र डीएम के मार्फत मुख्यमंत्री को प्रेषित किया।

धरना प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने कहा कि यदि सरकार महासंघ के माांगपत्र पर शीघ्र अति शीघ्र सकारात्मक कार्रवाई नहीं करता है तो कर्मचारी आने वाले दिनों में उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जाएंगे, जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी निगम प्रशासन और राज्य सरकार की होगी।

इस मौके पर गढ़वाल मंडल विकास निगम मुख्यालय राजपुर रोड देहरादून, होटल द्रोणा, ईपीएफ कार्यालय ,हिमानी गैस सर्विस ,गढ़ी कैंट गैस सर्विस, पर्यटक आवास गृह डाकपत्थर ,पर्यटक आवास गृह आसन बैराज ,डोईवाला गैस एजेंसी, रानीपोखरी गैस ,एजेंसी होटल गढ़वाल टेरेस मसूरी, मसूरी दर्शन, मसूरी गैस सर्विस, यात्रा कार्यालय ऋषिकेश, पर्यटक आवास गृह भारत भूमि ऋषिकेश आदि के कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.