उत्तराखंड: कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या के पति के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

उत्तर प्रदेश उत्तराखंड क्राइम
खबर शेयर करें

 

देहरादून। बरेली के बहुचर्चित जैन दंपती हत्याकांड में कोर्ट ने उत्तराखण्ड की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या के पति के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। यह मामला 31 वर्ष पुराना है। इस मामले में अगली सुनवाई 20 अगस्त को होगी।

कोर्ट ने मंत्री रेखा आर्या के पति गिरधारी लाल साहू उर्फ पप्पू गिरधारी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले कोर्ट ने जमानती वारंट जारी होने के बाद कोर्ट में पेश हुए तीन अन्य आरोपियों आंवला निवासी बजरुद्दीन, भुता निवासी नरेश और बदायूं निवासी जगदीश को जेल भेज दिया अपर सत्र न्यायाधीश अब्दुल कय्यूम की अदालत ने यह आदेश जारी किया है।

यह है मामला 

यह मामला लगभग 31 वर्ष पुराना है। 11 जून 1990 की रात को सिविल लाइंस बरेली निवासी नरेश जैन और उनकी पत्नी पुष्पा जैन की संपत्ति विवाद के कारण हत्या कर दी गई थी।

इस मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने जोगीनवादा के पप्पू गिरधारी, हरिशंकर उर्फ पप्पू, बदायूं में थाना कोतवाली के मोहल्ला ब्रह्मपुरा के जगदीश सरन गुप्ता, रोहली टोला के भगवान दास, कटरा चांद खां के केपी वर्मा, साबिर, शीशगढ़ के योगेश चंद्र, आंवला के बजरुददीन, भुता के नरेश कुर्मी, फतेहगंज पश्चिमी के हरपाल, बदायूं की पूनम उर्फ सुनीता उर्फ गुड्डी समेत 11 लोगों पर आरोप तय किए थे।

बीते रोज कोर्ट ने 3 आरोपियों की याचिका को खारिज कर जेल भेज दिया है। कोर्ट ने  उत्तराखण्ड की कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या के पति गिरधारी लाल साहू उर्फ पप्पू गिरधारी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.