उत्तराखंड एसटीएफ ने किया अंतर्राष्ट्रीय क्राइम गिरोह का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार, 1.10 करोड़ फ्रीज

उत्तराखंड क्राइम
खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और साइबर क्राइम पुलिस ने देहरादून में अंतरराष्ट्रीय साइबर क्राइम गिरोह का भंडाफोड़ किया है। एसटीएफ ने गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। साथ ही करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी का खुलासा भी किया है। ये गिरोह देहरादून में एक फर्जी कॉल सेंटर चला  कर अमेरिका में लोगों को बडे पैमाना पर ठगा रहा था।

इस गिरोह की मास्टरमाइंट एक महिला है, जो अमेरिका से गिरोह का संचालन कर रही थी। जिन दो सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है, उनके नाम वैभव गुप्ता और सूद खान है। इन दोनों के पास से उत्तराखंड एसटीएफ को कई डिजिटल सबूत साक्ष्य भी मिले हैं, जिनके आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है। दोनों को देहरादून के पटलेनगर कोतवाली से गिरफ्तार किया गया है। वैभव गुप्ता और सूद खान दोनों देहरादून के पटेल नगर के ही रहने वाले है।

जानकारी के मुताबिक ये गिरोह मुख्य रूप से अमेरिका में लोगों
को कंप्यूटर और लैपटॉप जैसे सिस्टमों की सर्विस देने के नाम पर
ठगी करते थे। इसके लिए इन्होंने फर्जी कॉल सेंटर भी बना रखा था। अभी तक ये गिरोह इसी तरह लाखों-करोड़ों रुपए की ठगी कर
चुका है।

उत्तराखंड एसटीएफ की प्रारंभिक जांच में जो सच निकल कर सामने आया है, उसके मुताबिक इस गिरोह की सरगना एक महिला है, जो अमेरिका में ही रहती है। उसी का नेटवर्क भारत के अलग-अलग शहरों में फैला हुआ है। महिला गूगल सर्च के जरिये ग्राहकों के नंबर हैक कर इस फर्जीवाडे को अंजाम दे रही थी। उत्तराखडं एसटीएफ और साइबर पुलिस अब इस गिरोह के अन्य
सदस्यों की तलाश में जुटी हुई है।

ऐसे करते थे ठगी

अमेरीका में बैठा कोई भी व्यक्ति वहां से सिस्टम डिवाइस
के रिपेयर के लिए गूगल पर कस्टमर केयर नंबर सर्च करता था, तो वो इस गिरोह के संपर्क में आजाता था। ये उसी व्यक्ति के नंबर
को हैक करके उसे फोन करते है और फर्जी कस्मटर केयर अधिकारी बनकर उससे बात करते थे।

इसके बात ये एक रिमोट एक्सेस के जरिए सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करवा कर अमेरिका में बैठे नागरिक के सिस्टम में तकनीकी खराबी को ठीक करने के एवज में 100 से लेकर 900 डॉलर तक की ठगी करते थे। महिला सरगना का नाम मिलीस्सा है। महिला अपना कमीशन काटने के बाद दिल्ली से लेकर देहरादून तक गिरोह के सदस्यों के खातों में पैसा ट्रांसफर कर देती थी।

खाते में जमा 1.10 करोड़ फ्रीज

गिरोह के बैंक खाते में करीब 1.25 करोड़ रुपए की ट्रांजेक्शन सामने आई है। गिरोह के खाते में जमा करीब एक करोड़ 10 लाख
रुपयों को पुलिस ने फ्रीज करा दिया है। ये सभी रकम पीएनबी, एचडीएफसी और बैंक ऑफ बड़ौदा के खातों में जमा थी।

छापेमार टीम में ये थे शामिल

सीएओ जवाहर लाल, एसआई विपिन बहुगुणा, नरोत्तम बिष्ट, हेड काॅस्टेबल देवेन्द्र भारती, काॅस्टेबल देवेन्द्र मंमगाई, सुधीर केशला, संदेशयादव, कादर खाल, दीपक तंवर, थाना पटेलनगर से स्थानीय पुलिस में एसआई राजेन्द्र, कांस्टेबल सूर्य प्रताप सिंह और धर्मवीर शामिल रहे।

11 thoughts on “उत्तराखंड एसटीएफ ने किया अंतर्राष्ट्रीय क्राइम गिरोह का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार, 1.10 करोड़ फ्रीज

  1. Great – I should definitely pronounce, impressed with your website. I had no trouble navigating through all the tabs as well as related information ended up being truly simple to do to access. I recently found what I hoped for before you know it at all. Reasonably unusual. Is likely to appreciate it for those who add forums or anything, web site theme . a tones way for your customer to communicate. Excellent task..

  2. Have you ever considered about adding a little bit more than just your articles? I mean, what you say is fundamental and everything. But think about if you added some great graphics or video clips to give your posts more, “pop”! Your content is excellent but with images and videos, this website could definitely be one of the best in its niche. Terrific blog!

Leave a Reply

Your email address will not be published.