उत्कृष्ट कार्य के लिए 17 अधिकारी पुरस्कृत, मुख्यमंत्री ने थपथपाई इनकी पीठ

उत्तराखंड देश-दुनिया
खबर शेयर करें
  • व्यक्तिगत एवं सामुहिक श्रेणी में प्रदान किये गये 3-3 पुरस्कार
  • सचिवालय में प्रदान किये गये उत्कृष्टता एवं सुशासन पुरस्कार 2019-20

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले अधिकारियों को मुख्यमंत्री उत्कृष्टता एवं सुशासन पुरस्कार 2019-20 से पुरस्कृत किया। पुरस्कृत होने वालों में 17 अधिकारी शामिल थे। व्यक्तिगत श्रेणी और सामूहिक श्रेणी के 3-3 पुरस्कार प्रदान किये गये।

इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री उत्कृष्टता एवं सुशासन पुरस्कार का उद्देश्य अच्छा कार्य करने वाले कार्मिकों को प्रोत्साहित करना है। अच्छा कार्य करने वालों को प्रोत्साहन मिलना जरूरी है। इससे दूसरे लोग भी प्रेरणा लेते हैं। राज्य में लगातार तीसरे वर्ष यह पुरस्कार दिया जा रहा है। आज जिन अधिकारियों को पुरस्कृत किया गया है, उन्होंने राज्य के विकास के लिए नई पहलों से योगदान करने का सराहनीय प्रयास किया है।

व्यक्तिगत श्रेणी में ये अधिकारी हुए सम्मानित

व्यक्तिगत श्रेणी में मुख्यमंत्री उत्कृष्टता एवं सुशासन पुरस्कार से 2019-20 प्रभागीय वन अधिकारी, वन प्रभाग कोट बंगला, उत्तरकाशी संदीप कुमार को भू-क्षरण एवं भू-स्खलन पर नियंत्रण के लिए, प्रधानाचार्य राजकीय इण्टर कॉलेज, पत्थरपानी पिथौरागढ़ कोस्तुभ चन्द्र जोशी को नई किरण वेबसाइट निर्माण कार्य, डिजिटल लैब द्वारा विद्यालयी शिक्षा में कार्य एवं डिप्टी कलेक्टर भनोली, अल्मोड़ा मोनिका को जागेश्वर महोत्सव, व्यापक प्रचार प्रसार से पर्यटकों की वृद्धि के फलस्वरूप रोजगार के वृद्धि के क्षेत्र में सराहनीय कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया।

सचिव बगौली के साथ इन्हें दिया गया पुरस्कार

सामूहिक श्रेणी में जो तीन पुरस्कार दिये गये उनमें सचिव परिवहन शैलेश बगोली के साथ अपर परिवहन आयुक्त सुनीता सिंह, उप परिवहन आयुक्त सनत कुमार सिंह, सम्भागीय परिवहन अधिकारी दिनेश चन्द्र पठोई, अरविन्द पाण्डेय एवं मुख्य प्रशासनिक अधिकारी नरेश संगल को ओटोमेटेड ड्राइविंग टेस्ट, वाहन चालन कुशलता परीक्षण की नवीन तकनीक, कुशल वाहन चालक का चयन मात्र 15-20 मिनट में कर ड्राईविंग लाइसेंस निर्गत करने में किये गये सराहनीय कार्य के लिए दिया गया।

सचिव राधिका झा के साथ ये भी हुए पुरस्कृत

ऊर्जा सचिव राधिका झा

सामूहिक श्रेणी में उत्तराखण्ड अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण, उरेडा की अध्यक्ष राधिका झा के साथ निदेशक उरेडा कैप्टन आलोक शेखर तिवारी, अनुभाग अधिकारी, ऊर्जा अनुभाग जे.पी मैखुरी को पुरस्कृत किया गया। इनके द्वारा वन क्षेत्रों में चीड़ की पत्तियों से पर्यावरण संतुलन में हो रहे बदलाव को रोकने के लिए पिरूल नीति प्रख्यापित करने, पिरूल आधारित विद्युत उत्पादन परियोजनाओं की आवश्यकताओं हेतु स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं, वन पंचायतों एवं अन्य स्थानीय संस्थाओं के सदस्यों द्वारा पिरूल एकत्रीकरण कर उद्यमियों को विक्रय करने से रोजगार के अवसर सृजित करने में सराहनीय कार्य किया गया।

डीएम आशीष श्रीवास्तव समेत इन अधिकारियों को मिला पुरस्कार

जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष श्रीवास्तव

सामूहिक श्रेणी में जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव के साथ मुख्य विकास अधिकारी देहरादून नितिका खण्डेलवाल, प्रभागीय वनाधिकारी देहरादून राजीव धीमान, मुख्य नगर आयुक्त नगर निगम ऋषिकेश नरेन्द्र सिंह क्वीरियाल और पेयजल निगम, ऋषिकेश के अधिशासी अभियंता ए.के. चतुर्वेदी को मां गंगा की आध्यात्मिकता को कायम रखते हुए इसके आस्था के फलस्वरूप एकत्र होने वाले फूलों का सदुपयोग अगरबत्ती एवं इसके 22 अन्य सह उत्पाद का निर्माण करने की प्रेरणा लघु एवं कुटीर उद्योगों को देकर रोजगार सुलभ करवाने के क्षेत्र में सराहनीय कार्य के लिए दिया गया।

पेयजल निगम के अधिशासी अभियंता एके चतुर्वेदी।

इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजान दास, मुख्य सचिव ओमप्रकाश, अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, प्रमुख सचिव आनन्द बर्द्धन समेत शासन के कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

162 thoughts on “उत्कृष्ट कार्य के लिए 17 अधिकारी पुरस्कृत, मुख्यमंत्री ने थपथपाई इनकी पीठ

  1. Pingback: 1unhindered
  2. This is the precise weblog for anyone who needs to search out out about this topic. You realize a lot its nearly hard to argue with you (not that I truly would need…HaHa). You undoubtedly put a new spin on a topic thats been written about for years. Nice stuff, just great!

Leave a Reply

Your email address will not be published.