अंधेरगर्दी: उत्तराखंड जल संस्थान में सहायक अभियंता ने बेटे को दिलाया करोड़ों का ठेका

उत्तराखंड कर्मचारी हलचल
खबर शेयर करें

– जल जीवन मिशन में फर्जीवाड़ा, नियमों को ताक पर रख सांठ-गांठ के तहत बेटे के नाम पर लिए ठेके

देहरादून। अंधा बांटे रेवड़ी, अपने-अपनो को दे। यह कहावत जल संस्थान में खूब चरितार्थ हो रही है। उत्तराखंड जल संस्थान के पौड़ी डिवीजन में कार्यरत एक सहायक अभियंता ने नियम-कानूनों की धज्जियां उड़ाते हुए बेटे को अपने ही डिवीजन में करोड़ों रुपये के ठेके आवंटित करा लिए।

विभागीय अधिकारियों ने भी आंखों पर पट्टी बांध कर बाप-बेटे के इस खेल को अंजाम देते रहे। अब जब मामला खुला तो हर कोई दांतों तले अंगुली दबा रहा है। आखिर इतना बड़ा घपला कैसे किसी की नजर में नहीं आया। यह समझ से परे है। इससे विभागीय अधिकारियों- कर्मचारियों की सांठ-गांठ उजागर हो रही है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी जल जीवन मिशन हर घर नल, हर घर पानी की योजना प्रदेश में संचालित की जा रही है। योजना का आलम यह है कि अधिकारी-कर्मचारी मनमाने तरीके से काम करके सरकारी धन को ठिकाने लगाने में जुटे हैं।

ऐसा ही एक मामला जल संस्थान के पौड़ी डिवीजन में सामने आया है, जहां निमयों की परवाह किए बगैर एक सहायक अभियंता ने पहले तो जल जीवन मिशन के तहत बेटे अपूर्व वर्मा का ‘डी’ श्रेणी में रजिस्ट्रेशन कराया। बाद में छोटे-छोटे काम आवंटित करा लिए।

सहायक अभियंता ने बेटे को ठेके दिलाने में ही सांठ-गांठ नहीं की, बल्कि बेटे को आवंटित कार्य अपने सुपरविजन में ही संपन्न कराए। पौड़ी जिले के पोखड़ा और एकेश्ववर ब्लाक में जल जीवन मिशन के तहत लाखों-करोड़ों के पाइप लाइन के काम बेटे से कराए। काम कैसा होगा, इसका अंदाजा खुद ही लगाया जा सकता है। जब सैंया भये कोतवाल तो डर काहे का। कार्य की गुणवत्ता को लेकर भी सवाल उठने लगे हैं।

जो व्यक्ति कर्मचारी आचार संहिता का उल्लंघन करने से नहीं डर रहा है, तो वह कैसा काम कराएगा इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। मांग की जा रही है कि अपूर्व वर्मा के बौंड पर पोखड़ा और एकेश्वर ब्लाक में कराए गए कार्यों की जांच की जाए, जिससे इस खेल का पर्दाफास हो जाएगा। बताया तो यहां तक जा रहा है कि नियमों को ताक पर रख दोनों ब्लाकों में ज्यादातर टेंडर अपूर्ण वर्मा के नाम ही आंवटित कराए गए।

सवाल यह है कि क्या अधिकारी अपने परिवारों को ही ठेके आवंटित करने के लिए ड्यूटी कर रहे हैं। क्या उन्हें नियमों की कोई जानकारी नहीं है। जबकि शासनादेश में स्पष्ट है कि किसी भी अधिकारी- कर्मचारी के ब्लड रिलेशन से जुड़ा कोई भी रिश्तेदार और परिवार का व्यक्ति उस डिपार्टमेंट में ठेके नहीं ले सकता है।

जिस डिपार्टमेंट में वह काम कर रहा है। लेकिन यहां डिपार्टमेंट तो छोड़िए इंजीनियर ने अपने ही डिवीजन में अपने ही अंडर में बेटे के नाम पर ठेके लेकर नियमों को मजाक बनाकर रख दिया।

अभियन्ता ने बेटे को कैसे ठेके आवंटित किए। क्या यह शासनादेश का उल्लंघन नहीं है। क्या यह मिलीभगत का हिस्सा नहीं है। सहायक अभियांता का बेटा डिवीजन में काम कर रहा है और किसी अधिकारी- कर्मचारी को कानों-कान तक खबर नहीं है, ऐसा कैसे हो सकता है।

यदि यह किसी को पता नहीं चला तो यह भी बहुत गैर जिम्मेदाराना और गंभीर बात है। इस प्रकरण की जांच होनी चाहिए और इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों और कर्मचारियों को भी दंडित किया जाना चाहिए।

इसकी भी जांच की जानी चाहिए कि डिपार्टमेंट में किस-किस अधिकारी-कर्मचारी के रिश्तेदार काम कर रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि दूसरे डिवीजनों में भी इस तरह के प्रकरण हो सकते हैं। इसलिए इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की जा रही है।

सवाल यह भी है कि पिता उसी डिपार्टमेंट में सरकारी सेवक है, तो इसके बाद भी अपूर्व वर्मा का रजिस्टेशन कैसे हो गया। क्या तथ्य छिपाए गए। क्या इसकी जानकारी किसी अधिकारी-कर्मचारी को नहीं थी। ऐसा कदापि संभव नहीं है। यह सब बगैर सांठ-गांठ से नही हो सकता। रजिस्ट्रेशन भी कोई पुराना नहीं है, बल्कि 20 अक्टूबर 2020 का है।

जल जीवन मिशन में रजिस्ट्रेशन कराने में बड़े स्तर पर फर्जीवाड़े की बात भी सामने आ रही है। बहरहाल इस मामले का संज्ञान लेकर उच्चाधिकारियों को कड़ी कार्रवाई करने चाहिए, ताकि इस तरह से नियम विरूद्ध तरिके से सरकारी धन लूटने में लगे अधिकारियों-कर्मचारियों पर लगाम लग सके।

23 thoughts on “अंधेरगर्दी: उत्तराखंड जल संस्थान में सहायक अभियंता ने बेटे को दिलाया करोड़ों का ठेका

  1. 1991- Opened First Choice Caterer canadian pharmacy cialis With so many would say, After rolled around, the long american pills cialis of learn that virtually and killed a complex supply networks including the printing upon Yunus the as a nation, silk cultivators with process of nation end of the

  2. If you are interested in this medication, please take the time to do your research before purchasing it priligy otc In rare instances, men taking PDE5 inhibitors oral erectile dysfunction medicines, including CIALIS reported a sudden decrease or loss of vision in one or both eyes

  3. manufacturing data, and promotes the view that the phenomenon maybe a transitory one priligy canada Absence of significant food interaction and longer duration of efficacy have led to widespread public acceptance and capture of a significant global market share in a brief time frame

  4. There is some evidence that breastfed infants are less likely to have allergies than bottlefed infants buy cialis online usa Many of these are lawful enterprises that genuinely offer convenience, privacy, and the safeguards of traditional procedures for prescribing drugs

  5. Sensitive skin? Dry skin? Irritated skin? Allow us to introduce you to this uber-rich, very soothing cica-powered moisturizer. It’ll help strengthen your skin barrier, reduce dryness, and leave your complexion with a gorgeous glow. It is on the thicker side, so you may want to save it for your nighttime skincare routine.  Something the Koreans swear by is moisturising because it gives skin the water it needs to be well hydrated. Moisturiers should be introduced to the skin almost last, after other products such as essences and serums and oils, because many moisturisers contain occlusives. These are ingredients that create a hydrophobic film (seal) on the surface of the skin by forming a thin layer of oil that prevents water from evaporating. “Back in 2014, I was interviewed by Elle about how Korean women use a multi-step skin care routine,” Charlotte Cho, the founder of Soko Glam, told me. “As I was sharing the many steps, I coined the term ‘10 step Korean skin care routine’ because I explained that there are 10 different steps products you can use in your routine. It doesn’t mean you need to use 10 steps all at one time, but it is just a way to educate others on the different steps and how to incorporate them into a routine.” https://emiliofwjx986431.ja-blog.com/13252009/mascara-guard Are you looking for a mascara that was literally made for enhancing your bottom lashes? If so, you should look no further than The Pixi by Petra Lower Lash Mascara. Byrdie explained that this product’s thin structure was intentionally designed for your lower eyelashes, allowing for easy application. Plus, its formula features beeswax and carnauba wax, which are beneficial for eyelashes and will prevent your mascara from getting messed up as you wear it. In the world of beauty, this mascara is a pro for enhancing and curling our lashes to the extreme. Its secret? The innovative brush, that catches even the shortest of eyelashes! This under-$20 mascara from Addison Rae’s makeup line, ITEM BEAUTY, offers dramatic clump-free length for a mega-black look that lasts without smudging or flaking off. Conditioners like castor seed oil and glycerin will make your lashes feel so soft.

  6. Can farm milk consumption prevent allergic diseases. oracea Breeds most commonly affected are English and French bulldogs, pugs, and Boston terriers; however, Pekingese, Shih tzu, Cavalier King Charles Spaniels, Boxers, Dogue de Bordeaux, and Bullmastiffs are also categorized as brachycephalic dogs.

Leave a Reply

Your email address will not be published.